करेले के रस में डूबो कर रखें पैर, नियंत्रण में रहेगा ब्लड शुगर लेबल

0
233

पैगाम ब्यूरोः डायबिटीज इती तेजी से फैल रहा है कि विशेषज्ञ भारत को डायबिटीज कैपिटल (मधुमेह की राजधानी) कहने लगे हैं. हर साल लाखों लोग इस लाइलाज रोग के शिकार हो रहे हैं. दवाओं से ऊब चुके अब काफी डायबिटीज मरीज घरेलु नुस्खों का सहारा लेने लगे हैं. 

डॉक्टरों का कहना है कि खानपान पर ध्यान नहीं देने से काफी तेजी से बढ़ जाता है. हाई ब्लड शुगर लेवल शरीर के लिए बेहद खतरनाक है. इसमें जान भी जा सकती है. ऐसे में कुछ फल और सब्जियों के सेवन से ब्लड शुगर लेबल को कंट्रोल किया जा सकता है.

सब्जियों में करेला एक ऐसी ही सब्जी है, जो ब्लड शुगर को कम करती है. डायबिटीज के मरीजों के लिए करेले का जूस काफी सेहतमंद साबित होता है. लेकिन बहुत कम लोगों को इसकी जानकारी है कि करेले के रस में पैरों को डुबाकर रखने से भी इस रोग में काफी फायदा होता है. जानकारों के दावे के मुताबिक, यह घरेलू नुस्खा डायबिटीज कंट्रोल करने  रामबाण है.

डायबिटीज पर शोध करने वालों के मुताबिक, करेला में चैरेटिन और मोमोरडिसिन नाम के दो यौगिक होते हैं, जो डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत लाभदायक है. ये ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करते हैं. इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट्स पाया जाता है, जो डायबिटीज से लड़ने में सहायता करते हैं. करेले में पॉलीपेप्टाइड-पी नामक यौगिक भी होता है, जो ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद करता है.

इस घरेलु नुस्खे को आजमाने के लिए दस-पंद्रह करेला लें. उसे कूट कर या फिर मिक्सी में पीस कर उसका रस निकाल लें. इस रस को एक बड़े से बर्तन या बाल्टी में रखें. इसमें अपना पैर डुबोकर रखें. बीच-बीच में अपने पैरों को हिलाते-डुलाते या चलाते रहें. ऐसा कम से कम 15-20 मिनट तक करें. जब करेला का कड़वापन जीभ को महसूस होने लगे, तो पैरों को निकालकर साफ पानी से धो लें और जूते या चप्पल पहन लें.

इस प्रयोग को आप 15-20 दिन तक आजमायें. यह डायबिटीज के रोगियों के लिए बेहतरीन घरेलू नुस्खा है। इससे डायबिटीज को काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है. इसके साथ ही अपने खानपान पर कंट्रोल करें,  मीठा खाने का मन करे तो मीठा फल, शहद चाट लें. तीन दिन यह करने के बाद अपना ब्लड शुगर टेस्ट करवाएं. फर्क जरूर नजर आयेगा. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here