ममता का बीजेपी पर करारा प्रहारः दूसरों से कागज मांगने से पहले अपना बर्थ सर्टिफिकेट दिखाओ

0
285

पैगाम ब्यूरोः पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ममता बनर्जी ने सीएए, एनआरसी और एनपीआर के मुद्दे पर एक बार फिर से केंद्र सरकार पर करारा प्रहार किया है. पश्चिम बंगाल के कृष्णनगर में एक सभा को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि कोई कह रहा है कि एनआरसी नहीं होगा. वहीं कुछ लोग कह रहे हैं कि एनआरसी हो कर रहेगा.
उन्होंने आरोप लगाया कि एनआरसी को लेकर धमकी दी जा रही है. डिटेंशन सेंटर का डर दिखाया जा रहा है. लेकिन यह साफ कह देती हूं कि पश्चिम बंगाल में डिटेंशन सेंटर नहीं बनेगा. ममता बनर्जी ने कहा कि यह लोग कागज देखना चाहता है, लेकिन अगर आप कागज नहीं दिखायेंगे, तो यह लोग रफूचक्कर हो जायेंगे. दूसरों से कागज मांगने वाले पहले अपना बर्थ सर्टिफिकेट तो दिखाओ.
बुधवार को कृष्णानगर गवर्नमंट कॉलेज में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार के साथ-साथ वामदलों और कांग्रेस पर भी निशाना साधा.
ममता बनर्जी ने कहा कि एनआरसी का पहला चरण एनपीआर है. इसलिए मैंने राज्य में एनपीआर करने की अनुमति नहीं दी है. उन्होंने कहा कि याद रखें कि राज्य सरकार के सभी कर्मचारी हमारे नहीं हैं. कुछ सीपीआईएम और कांग्रेस के समर्थक भी हैं. मुख्यमंत्री ने सतर्क करते हुए कहा कि कि अगर कोई आपके घर आ कर कहता है कि मैं पश्चिम बंगाल सरकार का कर्मचारी हूं, अपना कागज दिखाओ, तो मैं कहती हूं कि उन्हें कागज मत दिखाना.
बता दें कि इससे पहले मंगलवार को ममता बनर्जी ने रानाघाट में भी कहा था कि अगर कोई आपके घर जाकर कुछ पूछताछ करता है तो उसे कुछ मत बनाना. न ही उन्हें कागज दिखाना. अगर कोई आधार कार्ड जमा करने के लिए कहे तो उसे आधार कार्ड मत देना. अगर कोई आप से यह जानना चाहे कि आपके घर में कौन-कौन है? तो उसे मत बताना. अगर आप कोई आपके पास कुछ रखना चाहे तो उसे न रखें. इस मौके पर ममता बनर्जी ने बीजेपी को दंगाई दल भी करार दिया था.
सरकारी कंपनियों के विनिवेश के फैसले पर भी ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधा. बुधवार को कृष्णानगर की सभा में उन्होंने कहा कि आपने बीजेपी को वोट दिया था, बदले में आपको क्या मिला? बीजेपी वोट लेकर अधिकार तक छीन लेती है. इस सलकार ने रेल, बैंक बीएसएनएल-एयर इंडिया सबको बेच दिया है.
इससे पहले ममता बनर्जी ने बनगांव में भी एक सभा को संबोधित किया. जहां उन्होंने सीपीआईएम और कांग्रेस पर भी निशाना साधा. ममता बनर्जी ने कहा कि सीपीआईएम और कांग्रेस सांप्रदायिक भावनाओं को भड़का रही हैं. दोनों पार्टियां गंदे पानी में मछली पकड़ने की कोशिश कर रही हैं. यह सब आपस में मिले हुए हैं. यह लोग सुबह सीपीआईएम, दोपहर में कांग्रेस और रात में बीजेपी बन जाते हैं. इसलिए किसी पर भरोसा न करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here