संजय राउत ने कहाः बाप रे, पूरी दिल्ली देशद्रोही हो गयी

Must Read

9 महीने बाद दिखेगा कोरोना का एक और रूपः ज्यादा बच्चे होंगे पैदा

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस पर काबू पाने की युद्ध स्तर पर कोशिश चल रही है. दुनिया भर के वैज्ञानिक...

क्या भारत कोरोना के तीसरे स्टेज में पहुंच चुका है, सरकार ने दी जानकारी

पैगाम ब्यूरोः देश में कोरोना का आतंक और मरने वालों की तादाद बढ़ती ही जा रही है. इस परिस्थिति...

दारुल उलूम देवबंद ने बढ़ाया मदद का हाथः मदरसे को आसोलेन वार्ड बनाने की पेशकश

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस के कहर से निपटने में हर कोई अपने स्तर पर मदद कर रहा है. देश...

पैगाम ब्यूरोः अरविंद केजरीवाल ने तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री की कमान संभाल ली हैं. दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की शानदार जीत के लिए शिवसेना ने अपनी पुरानी सहयोगी बीजेपी पर निशाना साधा है.

शिवसेना के मुखपत्र सामना में शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कटाक्ष करते हुए कहा कि बाप रे. पूरी दिल्ली देशद्रोही. दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों ने यह दिखा दिया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह अजेय नहीं हैं.

संजय राउत ने लिखा कि दूसरी बात यह है कि वोटर बेईमान नहीं हैं. धर्म का बवंडर पैदा किया जाता है, उसमें वे बहते नहीं हैं. राम श्रद्धा की जीत हैं, लेकिन कुछ विजय हनुमान भी दिलाते हैं. दिल्ली में ऐसा ही हुआ.

शिवसेना नेता ने अख्बार में आगे लिखा है कि लोकसभा चुनाव में मजबूत और अभेद्य रही बीजेपी विधानसभा चुनाव में ताश के पत्तों से बने बंगले की तरह धराशायी हो जाती है, ऐसा दिल्ली विधानसभा चुनाव के परिणाम ने साफ कर दिया. बीजेपी अजेय नहीं है और मोदी-शाह के कारण चुनाव जीता जा सकता है, इस दंतकथा से लोगों को अब तो बाहर निकलना चाहिए.

उन्होंने कहा कि बीजेपी को पहले ही लग गया था कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में उस की नाव डूब रही है, ये यकीन होते ही बीजेपी ने अपने हुकुम का इक्का बाहर निकाला. सीधे प्रभु श्रीराम को ही चुनाव प्रचार में उतार दिया. संसद के अधिवेशन के दौरान ही प्रधानमंत्री ने रामजन्म भूमि ट्रस्ट की घोषणा कर दी, लेकिन राम मंदिर निर्माण की घोषणा भी कोई लहर दिल्ली विधानसभा में नहीं ला सकी.

नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन पर संजय राउत ने कहा कि शाहीन बाग में नागरिकता कानून के विरोध में मुसलमान धरने पर बैठे. बीजेपी ने इसका इस्तेमाल हिंदू बनाम मुसलमान के तौर पर किया, लेकिन बीजेपी की सबसे दयनीय हार हिंदू बहुल निर्वाचन क्षेत्रों में ही हुई. केजरीवाल को हिंदू, मुसलमान, सिख, ईसाई, दलित सभी ने वोट दिए. देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री और मजबूत गृहमंत्री की दिल्ली वालों ने नहीं सुनी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

9 महीने बाद दिखेगा कोरोना का एक और रूपः ज्यादा बच्चे होंगे पैदा

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस पर काबू पाने की युद्ध स्तर पर कोशिश चल रही है. दुनिया भर के वैज्ञानिक...

क्या भारत कोरोना के तीसरे स्टेज में पहुंच चुका है, सरकार ने दी जानकारी

पैगाम ब्यूरोः देश में कोरोना का आतंक और मरने वालों की तादाद बढ़ती ही जा रही है. इस परिस्थिति में यह अफवाह तेजी से...

दारुल उलूम देवबंद ने बढ़ाया मदद का हाथः मदरसे को आसोलेन वार्ड बनाने की पेशकश

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस के कहर से निपटने में हर कोई अपने स्तर पर मदद कर रहा है. देश के बड़े-बड़े उद्योगपतियों, फिल्मस्टार और...

यूपी पुलिस की हैवानियतः सेनिटाइजर के नाम पर मजदूरों के शरीर पर कीटनाशक डाल रही है पुलिस

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस संकट की इस घड़ी में जब देश भर से इंसानियत की नयी-नयी मिसालें सामने आ रही हैं. वहीं यूपी पुलिस...

बंगाल सरकार का अभूतपूर्व फैसलाः हर जिले में बनेगा कोरोना अस्पताल

पैगाम ब्यूरोः किसी ने सच ही कहा है कि जो बात बंगाल आज सोचता है, उसके बारे में देश दूसरे दिन सोचता है. केंद्र...

More Articles Like This