अमित शाह के विरोध में पूरे कोलकाता में हुए प्रदर्शन, जलाया गया गृह मंत्री का पुतला

Must Read

अब 12 अप्रैल को होगा नया ड्रामा, 5 मिनट खड़े हो कर पीएम को सम्मान दिये जाने की तैयारी

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे चिकित्सा कर्मियों को सम्मान देने के लिए 22 मार्च को ताली...

तबलीगी जमात के लोग दूसरों के साथ नहीं कर सकते बदसलूकीः देखें वीडियो

पैगाम ब्यूरोः मीडिया का एक वर्ग और भगवा संगठन तबलीगी जमात को शैतान की जमात के रुप में पेश...

किसानों की जीविका खतरे में, फसलों की कटाई के लिए लॉकडाउन में ढील दे सरकारः राहुल गांधी

पैगाम ब्यूरोः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने फसलों की कटाई को लिए लॉकडाउन में ढील देने की...

पैगाम ब्यूरोः दिल्ली में हुए भयानक दंगे के बाद पहली बार रविवार को केंद्रीय गृह मंत्री सार्वजनिक तौर पर पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में नजर आये. देश की सांस्कृतिक राजधानी के तौर पर जाने जाने वाले कोलकाता ने अमित शाह का स्वागत जबरदस्त विरोध प्रदर्शन के साथ किया.

अमित शाह रविवार को कोलकाता में मौजूद थे, जहां उन्होंने सबसे पहले एनएसजी के स्पेशल हब का उदघाटन किया. उसके बाद वो नागरिकता कानून (सीएए) के समर्थन में आयोजित बीजेपी की एक जनसभा को संबोधित करने के लिए शहीद मीनार मैदान पहुंचे. इस दौरान गृह मंत्री जिस-जिस रास्ते से गुजरे, उनके खिलाफ जम कर विरोध प्रदर्शन हुआ.

वामपंथी छात्र संगठनों, कांग्रेस, विभिन्न सामाजिक और गैर-सरकारी संगठनों ने अमित शाह के कोलकाता सफर का विरोध करते हुए प्रदर्शन किया. उन्हें काले झंडे दिखाये गये और शहर भर में गृह मंत्री के पुतले जलाये गये. विरोध में काले गुब्बारे भी हवा में छोड़े गये.

अमित शाह रविवार सवेरे 11 बजे जब कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस इंटरनेशन एयरपोर्ट पर उतरे. तब वामपंथी दलों के कार्यकर्ताओं ने एयरपोर्ट के गेट नंबर चार पर काले झंडे दिखा कर गृह मंत्री का स्वागत किया. वामदलों के कार्यकर्ताओं ने एयरपोर्ट से कोलकाता शहर को जोड़ने वाले वीआईपी रोड और जेसोर रोड पर भी उनका जम कर विरोध किया.

शहर भर में अमित शाह के खिलाफ रैलियां निकाली गयीं, जहां ‘अमित शाह वापस जाओ’, ‘दिल्ली दंगे के नायक अमित शाह गो बैक’ के नारे लगाये गये. जिस शहीद मीनार मैदान में अमित शाह ने बीजेपी की सभा को संबोधित किया. उससे थोड़ी दूर ही प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच खूब धक्कामुक्की हुई. छात्र, युवा, श्रमिक संगठनों ने अमित शाह के खिलाफ जम कर प्रदर्शन किया और उनके खिलाफ नारे लगाये.

एक विरोध रैली का नेतृत्व कर रहे सीपीआईएम (माकपा) विधायक दल के नेता सुजन चक्रवर्ती के कहा कि यह हमारे लिए शर्म की बात है कि दिल्ली में हिंसा हो रही है और गृह मंत्री कोलकाता का दौरा कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि भले ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके स्वागत के लिए लाल कालीन बिछाया हो, लेकिन युवा, छात्र, वाम कार्यकर्ता और लोकतंत्र-प्रेमी लोग उन्हें काले झंडे दिखा कर विरोध जताते रहेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

अब 12 अप्रैल को होगा नया ड्रामा, 5 मिनट खड़े हो कर पीएम को सम्मान दिये जाने की तैयारी

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे चिकित्सा कर्मियों को सम्मान देने के लिए 22 मार्च को ताली...

तबलीगी जमात के लोग दूसरों के साथ नहीं कर सकते बदसलूकीः देखें वीडियो

पैगाम ब्यूरोः मीडिया का एक वर्ग और भगवा संगठन तबलीगी जमात को शैतान की जमात के रुप में पेश कर रहे हैं. इस काम...

किसानों की जीविका खतरे में, फसलों की कटाई के लिए लॉकडाउन में ढील दे सरकारः राहुल गांधी

पैगाम ब्यूरोः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने फसलों की कटाई को लिए लॉकडाउन में ढील देने की मांग की है. वायनाड के...

49 दिनों तक चल सकता है लॉकडाउनः मुख्यमंत्री ने किया इशारा

पैगाम ब्यूरोः देश में चल रहे लॉकडाउन की मियाद 14 अप्रैल को पूरी हो रही है, लेकिन शायद इस दिन लॉकडाउन खत्म नहीं होगा....

कोरोना के नाम पर सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को दिया जा रहा है बढ़ावाः सीताराम येचुरी

पैगाम ब्यूरोः सीपीआईएम (माकपा) के महासचिव सीतारम येचुरी ने आरोप लगाया है कि कोरोना वायरस के नाम पर देश में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को बढ़ाया...

More Articles Like This