दुनिया ताले में बंद, लेकिन चीन में फिर पटरी पर लौटने लगी जिंदगी

Must Read

अब 12 अप्रैल को होगा नया ड्रामा, 5 मिनट खड़े हो कर पीएम को सम्मान दिये जाने की तैयारी

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे चिकित्सा कर्मियों को सम्मान देने के लिए 22 मार्च को ताली...

तबलीगी जमात के लोग दूसरों के साथ नहीं कर सकते बदसलूकीः देखें वीडियो

पैगाम ब्यूरोः मीडिया का एक वर्ग और भगवा संगठन तबलीगी जमात को शैतान की जमात के रुप में पेश...

किसानों की जीविका खतरे में, फसलों की कटाई के लिए लॉकडाउन में ढील दे सरकारः राहुल गांधी

पैगाम ब्यूरोः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने फसलों की कटाई को लिए लॉकडाउन में ढील देने की...

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया एक बड़ा सा कैदखाना बन गयी है. इस बीमारी के खौफ से दुनिया की लगभग 20 प्रतिशत आबादी लॉकडाउन है. घरों, बाजारों, दफ्तरों हर जगह ताला लगा हुआ है. गाड़ियां रोक दी गयी हैं. ट्रेन और जहाज बंद पड़े हैं. लेकिन जिस चीन से निकल कर कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में लिया है, उस चीन में अब जिंदगी पटरी पर लौटने लगी है. कोरोना वायरस का केंद्र चीन का हुबेई प्रांत अब सामान्य होने लगा है.

जिस वक्त पूरी दुनिया कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन है. वहीं सिर्फ दो महीने में ही चीन में जिंदगी सामान्य हो गयी है. लोग घरों से निकलकर सड़कों, रेस्टुरेंट, दफ्तरों, बाजारों, शॉपिंग मॉल में जा रहे हैं.

चीन के हुबेई प्रांत को कोरोना वायरस का केंद्र माना जाता है, लेकिन हुबेई में अब यातायात पर लगायी गायी पाबंदियां खत्म कर दी गयी हैं. लोग अब ट्रेनों और बसों के जरिये लोगों से मिलने जा रहे हैं.

मंगलवार को चीन में कोरोना वायरस के 47 नये मामले सामने आये. ये वो लोग हैं जो कहीं फंसे हुए थे और अब अपने देश वापस वापस लौटे हैं. पिछले हफ्ते ये संख्या 78 थी.

हालांकि, अब भी पूरे चीन में लोग अपने चेहरे से मास्क नहीं हटा रहे हैं. अब लोग रेस्टुरेंट भी जाने लगे हैं. ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए कई रेस्टुरेंट ने लुभावने ऑफर शुरू किये हैं.

कोरोना वायरस के आतंक को खत्म कर अब कुछ लोग काम पर भी लौटे हैं, लेकिन उन्हें सरकार द्वारा बताए गए कोरोना संबंधी नियमों का पालन करना पड़ा रहा है. ताकि फिर से ये बीमारी सर न उभारे.

कारखानों और दफ्तरों, में काम पर जाने वाले लोगों की रोजाना 30 मिनट जांच हो रही है. कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच सरकार ने जो स्वास्थ्य नियम बनाये थे, उन्हें वो मानने पड़ रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

अब 12 अप्रैल को होगा नया ड्रामा, 5 मिनट खड़े हो कर पीएम को सम्मान दिये जाने की तैयारी

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे चिकित्सा कर्मियों को सम्मान देने के लिए 22 मार्च को ताली...

तबलीगी जमात के लोग दूसरों के साथ नहीं कर सकते बदसलूकीः देखें वीडियो

पैगाम ब्यूरोः मीडिया का एक वर्ग और भगवा संगठन तबलीगी जमात को शैतान की जमात के रुप में पेश कर रहे हैं. इस काम...

किसानों की जीविका खतरे में, फसलों की कटाई के लिए लॉकडाउन में ढील दे सरकारः राहुल गांधी

पैगाम ब्यूरोः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने फसलों की कटाई को लिए लॉकडाउन में ढील देने की मांग की है. वायनाड के...

49 दिनों तक चल सकता है लॉकडाउनः मुख्यमंत्री ने किया इशारा

पैगाम ब्यूरोः देश में चल रहे लॉकडाउन की मियाद 14 अप्रैल को पूरी हो रही है, लेकिन शायद इस दिन लॉकडाउन खत्म नहीं होगा....

कोरोना के नाम पर सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को दिया जा रहा है बढ़ावाः सीताराम येचुरी

पैगाम ब्यूरोः सीपीआईएम (माकपा) के महासचिव सीतारम येचुरी ने आरोप लगाया है कि कोरोना वायरस के नाम पर देश में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को बढ़ाया...

More Articles Like This