21 दिन से आगे भी बढ़ सकता है लॉकडाउनः सरकारी तैयारियों से मिल रहा इशारा

0
309

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस को रोकने के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है. लॉकडाउन के दूसरे दिन केंद्र सरकार ने राहत पैकेज का ऐलान किया, लेकिन जिस तरह हर योजना को अगले तीन महीने के लिए तैयार किया गया है, उसे देख कर ऐसा लगने लगा है कि लॉकडाउन की मियाद 21 दिनों से ज्यादा होने वाली है.

गुरुवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान किया. वित्त मंत्री ने महिलाओं के खाते में हर महीने 500 रुपये, मुफ्त गैस सिलेंडर, किसानों को आर्थिक मदद, कर्मचारियों के ईपीएफ में मदद जैसे कई ऐलान किये, लेकिन उनकी घोषणाओं में सबसे बड़ी बात यह थी कि कि हर चीज की तैयारी 3 महीने के लिए की गयी है.

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने जब कोरोना के मसले पर देश को संबोधित किया था, तब उन्होंने देशवासियों से दो-तीन हफ्ते मांगे थे. इसके बाद पहले एक दिन का जनता कर्फ्यू लगाया गया, लेकिन 24 मार्च की रात को देश भर में 21 दिन का महाकर्फ्यू लगा दिया गया. जिसके तहत 14 अप्रैल तक सभी देशवासी को अपने-अपने घरों में कैद रहना पड़ेगा.

लेकिन अब जिस तरह से तीन महीने तक की राहत की घोषणा की गयी है, ऐसे में ये अटकल लगने लगे हैं कि सरकार और बड़ी तैयारी कर रही है, जिसके तहत कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन की समयसीमा 21 दिनों से ज्यादा की जा सकती है. शायद तीन महीने तक लोगों को घरों में बंद रहना पड़े.

मजे की बात यह है कि प्रधानमंत्री बार-बार यह दावा कर रहे हैं कि कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए 21 दिनों तक सोशल डिस्टेंसिंग रखना होगा. इसलिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है. लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रधानमंत्री के इस दावे को गलत बता रहा है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल टेडरोस अधानोम गेब्रियेसस ने कहा है कि ये जरूरी नहीं है कि लॉकडाउन से कोरोना वायरस खत्म हो जाये. इसे खत्म करने के लिए उन मरीजों की तलाश करना और इलाज करना जरूरी है जो इससे पीड़ित हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here