21 दिन से आगे भी बढ़ सकता है लॉकडाउनः सरकारी तैयारियों से मिल रहा इशारा

Must Read

अब 12 अप्रैल को होगा नया ड्रामा, 5 मिनट खड़े हो कर पीएम को सम्मान दिये जाने की तैयारी

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे चिकित्सा कर्मियों को सम्मान देने के लिए 22 मार्च को ताली...

तबलीगी जमात के लोग दूसरों के साथ नहीं कर सकते बदसलूकीः देखें वीडियो

पैगाम ब्यूरोः मीडिया का एक वर्ग और भगवा संगठन तबलीगी जमात को शैतान की जमात के रुप में पेश...

किसानों की जीविका खतरे में, फसलों की कटाई के लिए लॉकडाउन में ढील दे सरकारः राहुल गांधी

पैगाम ब्यूरोः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने फसलों की कटाई को लिए लॉकडाउन में ढील देने की...

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस को रोकने के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है. लॉकडाउन के दूसरे दिन केंद्र सरकार ने राहत पैकेज का ऐलान किया, लेकिन जिस तरह हर योजना को अगले तीन महीने के लिए तैयार किया गया है, उसे देख कर ऐसा लगने लगा है कि लॉकडाउन की मियाद 21 दिनों से ज्यादा होने वाली है.

गुरुवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान किया. वित्त मंत्री ने महिलाओं के खाते में हर महीने 500 रुपये, मुफ्त गैस सिलेंडर, किसानों को आर्थिक मदद, कर्मचारियों के ईपीएफ में मदद जैसे कई ऐलान किये, लेकिन उनकी घोषणाओं में सबसे बड़ी बात यह थी कि कि हर चीज की तैयारी 3 महीने के लिए की गयी है.

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने जब कोरोना के मसले पर देश को संबोधित किया था, तब उन्होंने देशवासियों से दो-तीन हफ्ते मांगे थे. इसके बाद पहले एक दिन का जनता कर्फ्यू लगाया गया, लेकिन 24 मार्च की रात को देश भर में 21 दिन का महाकर्फ्यू लगा दिया गया. जिसके तहत 14 अप्रैल तक सभी देशवासी को अपने-अपने घरों में कैद रहना पड़ेगा.

लेकिन अब जिस तरह से तीन महीने तक की राहत की घोषणा की गयी है, ऐसे में ये अटकल लगने लगे हैं कि सरकार और बड़ी तैयारी कर रही है, जिसके तहत कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन की समयसीमा 21 दिनों से ज्यादा की जा सकती है. शायद तीन महीने तक लोगों को घरों में बंद रहना पड़े.

मजे की बात यह है कि प्रधानमंत्री बार-बार यह दावा कर रहे हैं कि कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए 21 दिनों तक सोशल डिस्टेंसिंग रखना होगा. इसलिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है. लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रधानमंत्री के इस दावे को गलत बता रहा है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल टेडरोस अधानोम गेब्रियेसस ने कहा है कि ये जरूरी नहीं है कि लॉकडाउन से कोरोना वायरस खत्म हो जाये. इसे खत्म करने के लिए उन मरीजों की तलाश करना और इलाज करना जरूरी है जो इससे पीड़ित हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

अब 12 अप्रैल को होगा नया ड्रामा, 5 मिनट खड़े हो कर पीएम को सम्मान दिये जाने की तैयारी

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे चिकित्सा कर्मियों को सम्मान देने के लिए 22 मार्च को ताली...

तबलीगी जमात के लोग दूसरों के साथ नहीं कर सकते बदसलूकीः देखें वीडियो

पैगाम ब्यूरोः मीडिया का एक वर्ग और भगवा संगठन तबलीगी जमात को शैतान की जमात के रुप में पेश कर रहे हैं. इस काम...

किसानों की जीविका खतरे में, फसलों की कटाई के लिए लॉकडाउन में ढील दे सरकारः राहुल गांधी

पैगाम ब्यूरोः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने फसलों की कटाई को लिए लॉकडाउन में ढील देने की मांग की है. वायनाड के...

49 दिनों तक चल सकता है लॉकडाउनः मुख्यमंत्री ने किया इशारा

पैगाम ब्यूरोः देश में चल रहे लॉकडाउन की मियाद 14 अप्रैल को पूरी हो रही है, लेकिन शायद इस दिन लॉकडाउन खत्म नहीं होगा....

कोरोना के नाम पर सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को दिया जा रहा है बढ़ावाः सीताराम येचुरी

पैगाम ब्यूरोः सीपीआईएम (माकपा) के महासचिव सीतारम येचुरी ने आरोप लगाया है कि कोरोना वायरस के नाम पर देश में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को बढ़ाया...

More Articles Like This