पालघर साधु हत्या मामले में मुसलमानों को फंसाने की कोशिश नाकाम, ज्यादातर आरोपी बीजेपी समर्थक

Must Read

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन...

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने...

पैगाम ब्यूरोः महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं और उनके गाड़ी के ड्राईवर की हत्या के मामले में एक बड़ा ट्वीस्ट आ गया है. भगवा संगठन, आईटी सेल और गोदी मीडिया अब तक इस घटना को मुसलमानों से जोड़ने की कोशिश कर रहा था, लेकिन उसकी कोशिश पूरी तरह नाकाम हो गयी है.

साधुओं की हत्या करने के आरोप में पुलिस ने 110 लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार लोगों में एक भी मुसलमान नहीं है. मरने वाले और मरने वाले सभी एक ही धर्म के हैं. महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख भी बार-बार यही दोरहा रहे थे. सूत्रों के अनुसार जिल इलाके में ये घटना हुई है, उस इलाके में बीजेपी का दबदबा है.

शुक्रवार को महाराष्ट्र के पालघर जिले में लोगों की भीड़ ने बच्चा चोर के शक में दो साधुओं और एक ड्राईवर की हत्या कर दी. जिस गांव में यह घटना हुई है, उसका नाम गडचिंचले है. उस पंचायत पर बीजेपी का राज है. पुलिस ने इस घटना में बीजेपी की सरपंच चित्रा चौधरी को भी गिरफ्तार किया है.

भगवा संगठन, आईटी सेल और मीडिया का एक बड़ा वर्ग इस घटना को मुसलमानों से जोड़ने की कोशिश कर रहा था, लेकिन महाराष्ट्र सरकार और पुलिस ने इस पूरी साजिश को नाकाम बना दिया है. जिसकी वजह से अब इस मामले को नया एंगल देने की कोशिश की जा रही है.

अब बीजेपी इस घटना को वामपंथियों से जोड़ने की कोशिश कर रही है. मुसलमानों को फंसाने में नाकाम रहने के बाद अब बीजेपी इस घटना को माकपा (सीपीआईएम) के सर डालने के प्रयास में जुट गयी है.

बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर ने ट्वीट कर कहा है, “भारत में कोई भी आदिवासी तब तक भगवा पहने किसी व्यक्ति पर हमला नहीं कर सकता जब तक कि उसका ब्रेनवाश नहीं किया जाता. पालघर लिंचिंग क्षेत्र कम्युनिस्टों का गढ़ है, यहां तक ​​कि स्थानीय (दहानू) विधायक भी सीपीआईएम (माकपा) से संबंधित है.” महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधते हुए बीजेपी नेता ने कहा, “उद्धव ठाकरे के अराजक शासन में मार्क्सवादी गुंडों ने 2 पवित्र द्रष्टाओं की मॉब लिंचिंग कर दी.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन वगैरा का नाम जरूर होगा....

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने और मौत के आंकड़ों का...

अब बीजेपी नेता बग्गा पर कसा शिकंजाः राजीव गांधी पर अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए एफआईआर दर्ज

पैगाम ब्यूरोः बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के बाद अब बीजेपी के एक और बड़बोले नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की परेशानी बढ़ती नजर आ...

लॉकडाउन के बीच फिर सड़क पर राहुल, प्रवासी मजदूरों के बाद टैक्सी ड्राइवर से जाना हाल

पैगाम ब्यूरोः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्री एयरकंडीशन दफ्तरों में बैठ कर कोरोना संकट दूर करने और प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को सुलझाने...

More Articles Like This