मजदूरों को न घर पहुंचायेंग न किसी को पहुंचाने देंगेः योगी सरकार कांग्रेस से बस लेने के बजाय बहानेबाजी में व्यस्त

Must Read

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन...

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने...

पैगाम ब्यूरोः कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के दबाव और मजदूरों की बढ़ती नाराजगी को देखते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कांग्रेस द्वारा भेजी गयी 1000 बसों के ऑफर को स्वीकार तो कर लिया है, लेकिन इस सरकार की नीयत इन बसों के जरिये मजदूरों को घर वापस भेजनी की नहीं है. योगी सरकार ऐसे तमाम नाटक कर रही है ताकि मजदूर भले ही पैदल चले जायें, लेकिन कांग्रेस द्वारा भेजी गयी बसों से अपने घर न जा सकें. योगी सरकार उन्हें कांग्रेस द्वारा भेजी गयी बसों में घर भेजने के बजाय नाटक करने में लगी हुई है.

योगी सरकार की तरफ से पहले तो सोमवार रात ये फरमान आया कि बसें लखनऊ लेकर आओ. सारे कागज दिखाओ. कांग्रेस के लोग जब मास्क, ग्लूकोज, बिस्किट, सूखा खाना लेकर उत्तर प्रदेश बॉर्डर पर ऊंचा नगला, आगरा पहुंचे तो अब कह रहे हैं कि बसों को गाजियाबाद और नोएडा लेकर आओ.

अब योगी सरकार की तरफ से एक नया शोशा छोड़ा गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार दावा कर रहे हैं कि प्रियंका गांधी के ऑफिस की तरफ से दी गयी बसों लिस्ट में कुछ नंबर मोटरसाइकिल, कार और ऑटो के हैं. बीजेपी आईटी सेल के लोग इसे लोग सोशल मीडिया पर खूब उछल रहे हैं. मान लेते हैं कि अगर ऐसा है भी तो सरकार उन नंबरों को हटा कर बाकी बसों से तो मजदूरों को भेज सकती है, लेकिन उसकी तो ये नीयत ही नहीं है.

योगी सरकार कांग्रेस की बसें नहीं लेने के लिए तरह-तरह के बहाने तलाश रही है. यूपी सरकार के एक बड़े अधिकारी ने सोमवार रात प्रियंका गांधी को पत्र लिख कर कांग्रेस से सभी बसों का फिटनेस टेस्ट और बस ड्राइवरों का लाइसेंस मंगलवार सुबह 10 बजे तक लखनऊ में जमा कराने के लिए कहा था. कांग्रेस भी योगी सरकार की चाल को समझ चुकी है. उसने रात 2 बजकर 10 मिनट पर इस पत्र का जवाब दिया.

प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह ने उत्तर प्रदेश सरकार को लिखी चिट्ठी में इस कदम को “पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित” बताया और सवाल किया है कि राज्य की सीमा से बसों को खाली कराकर लखनऊ में औपचारिक रूप से हैंडओवर करने के पीछे क्या औचित्य है.

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी ने योगी सरकार की इस हरकत तानाशाही करार दिया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा,  “जब बसें उप्र बॉर्डर पहुंच गईं हैं तो स्थानीय प्रशासन कह रहा है कि उन्हें ऊपर से कोई सूचना नहीं है. बसों आगे नहीं जा सकती एक तरफ मुख्य सचिव ‘फरमान” हैं कि बसों को गाजियाबाद,नोएडा ले आओ दूसरी तरफ अब हमें उप्र में घुसने से मना किया जा रहा है. आखिर हो क्या रहा है? क्या तानाशाही है?”

कांग्रेस ने एक वीडियो भी जारी किया है, जिसमें साफ देखा जा रहा है कि सैकड़ों बसें खड़ी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन वगैरा का नाम जरूर होगा....

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने और मौत के आंकड़ों का...

अब बीजेपी नेता बग्गा पर कसा शिकंजाः राजीव गांधी पर अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए एफआईआर दर्ज

पैगाम ब्यूरोः बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के बाद अब बीजेपी के एक और बड़बोले नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की परेशानी बढ़ती नजर आ...

लॉकडाउन के बीच फिर सड़क पर राहुल, प्रवासी मजदूरों के बाद टैक्सी ड्राइवर से जाना हाल

पैगाम ब्यूरोः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्री एयरकंडीशन दफ्तरों में बैठ कर कोरोना संकट दूर करने और प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को सुलझाने...

More Articles Like This