सुधीर चौधरी बतायें: जी न्यूज के दफ्तर में कोरोना रोगी छिपे हुए थे या फंसे हुए थे

Must Read

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन...

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने...

पैगाम ब्यूरोः मुसलमानों को कोरोना वायरस का जिम्मेदार ठहराने वाले जी न्यूज और उसके एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी का दफ्तर ही कोरोना का मरकज बन गया है. अब तक नफरत और अफवाह फैलाने वाले ये लोग अब कोरोना फैलाने लगे हैं. जी न्यूज के दफ्तर से कोरोना के 28 पॉजिटिव केस पाये गये हैं.

कोरोना संकट की शुरूआत में जब तबलीगी जमात मरकज का मामला सामने आया था तो सुधरी चौधरी टीवी पर चीख-चीख कर मरकज को कोरोना का केंद्र और जमात को कोरोना जिहादी बता रहे थे. जमात के मौलाना साद की खोज की जा रही थी.

अब उनके पास इस बात का क्या सबूत है कि वो और उनके सहकर्मी कोरोना जिहादी नहीं है? जी न्यूज और सुधीर चौधरी ने ये इल्जाम लगाया था कि मौलाना साद और उनकी जमात ने हवाला के पैसों से देश में कोरोना फैलाया गया. क्या अब वो बतायेंगे कि क्या उन्हें और उनके सहकर्मियों को भी देश में कोरोना फैलाने के लिए पैसे दिये गये थे?

सबसे बड़ी बात ये है कि तबलीगी जमात के लोगों को पता ही नहीं था कि वो कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. मेडिकल टेस्ट में उनमें से कुछ लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गये, लेकिन दूसरी तरफ जी न्यूज को पहले दिन से ही पता था कि उसके कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हैं. उसके बावजूद उन्हें काम पर लगाया जाता रहा. जिससे जी न्यूज के दफ्तर में कोरोना फैल गया. न जाने इन कोरोना जिहादियों ने अपने दफ्तर के बाहर कितने लोगों में ये वायरस फैलाया है.

सबसे बड़ी बात ये है कि क्या केंद्र सरकार, दिल्ली सरकार और यूपी सरकार ये बतायेगी कि खुद सुधीर चौधरी की मेडिकल रिपोर्ट क्या है? तबलीगी जमात के मौलाना साद को खोजने वाले सुधीर चौधरी खुद कहां है? उनका मेडिकल टेस्ट हुआ है या नहीं?

ये माना जा रहा है कि भारत में कोरोना अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यक्रम नमस्ते ट्रंप के कारण फैला. सुधीर चौधरी इस पूरे कार्यक्रम में मौजूद थे. ट्रंप के वापस अमेरिका लौट जाने के बाद सुधीर चौधरी एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दुबई गये थे. यूएई में भी उस वक्त कोरोना तेजी से फैल रहा था.

इन हालात में केंद्र सरकार, दिल्ली सरकार, यूपी सरकार और जी न्यूज को ये बताना जरूरी है कि आखिर सुधीर चौधरी का कोरोना टेस्ट हुआ है या नहीं? अगर हुआ है तो रिपोर्ट क्या आयी है? सबसे बड़ी बात ये है कि एक ही जगह (जी न्यूज के दफ्तर) में एक साथ कोरोना के 28 पॉजिटिव केस पाये जाने के बाद सरकार इस दफ्तर को सील क्यों नहीं कर रही है? सुधीर चौधरी समेत उसके सभी कर्मचारियों को क्वारंटाइन में क्यों नहीं भेजा जा रहा है? कोरोना के दिशानिर्देश (guidelines) तो यही कहते हैं.

यही घटना अगर किसी आम दफ्तर में हो जाता तो पुलिस वाले वहां काम करने वालों को अपराधी की तरह पकड़ कर ले जाते, लेकिन जी न्यूज मामले में कोई कार्रवाई होनी तो दूर किसी भी सरकार के स्वास्थ्य विभाग का कोई बयान तक नहीं आया है. तबलीगी जमात के लिए अलग से आंकड़े पेश करने वाली दिल्ली की केजरीवाल और केंद्र की मोदी सरकार का स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह चुप्पी साधे बैठा है, क्योंकि मामला उनके प्यारों का जो है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन वगैरा का नाम जरूर होगा....

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने और मौत के आंकड़ों का...

अब बीजेपी नेता बग्गा पर कसा शिकंजाः राजीव गांधी पर अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए एफआईआर दर्ज

पैगाम ब्यूरोः बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के बाद अब बीजेपी के एक और बड़बोले नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की परेशानी बढ़ती नजर आ...

लॉकडाउन के बीच फिर सड़क पर राहुल, प्रवासी मजदूरों के बाद टैक्सी ड्राइवर से जाना हाल

पैगाम ब्यूरोः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्री एयरकंडीशन दफ्तरों में बैठ कर कोरोना संकट दूर करने और प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को सुलझाने...

More Articles Like This