प्रियंका की बढ़ती लोकप्रियता से घबरा उठीं मायावतीः बोलने लगीं बीजेपी की भाषा

Must Read

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन...

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने...

पैगाम ब्यूरोः कोरोना संकट के दौरान गरीबों, मजदूरों की समस्याओं से निपटने में बीजेपी की केंद्र सरकार हो या यूपी, गुजरात, मध्य प्रदेश या कर्नाटक की सरकार, सभी पूरी तरह नाकाम साबित हो चुकी हैं. कांग्रेस इस वक्त एक मजबूत विपक्ष की भूमिका निभा रही है. सरकार पर कोई इल्जाम लगाये बगैर लोगों की मदद करने में जुटी हुई है, लेकिन बीजेपी को कांग्रेस का यह रुप पसंद नहीं आ रहा है. बीजेपी के साथ-साथ कई विपक्षी पार्टियों को भी कांग्रेस से दिक्कत हो रही है. जिनमें सबसे आगे बहुजन समाज पार्टी (बसपा) है.

दरअसल कोरोना संकट के बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी जिस तरह से आगे बढ़ कर नेतृत्व देने लगी हैं. उससे एक तरफ तो कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जबरदस्त जोश है. वहीं दूसरी तरफ अपनी बुनियाद कमजोर कर चुकीं मायावती को अपना जनाधार पूरी तरह खिसकने का डर सताने लगा है. इसलिए वो बीजेपी सरकार की नाकामियों को उजागर करने के बजाय कांग्रेस पर निशाना साध रही हैं. गरीब और असहाय मजदूरों की मदद करने के बजाय कोरोना के डर से एसी कमरे में बैठ कर आराम कर रहीं मायावती बीजेपी की भाषा बोल रही हैं.

उत्तर प्रदेश में मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए कांग्रेस की 1000 बसें राज्य की सीमा के बाहर तैयार खड़ी हैं. लेकिन योगी आदित्यनाथ इन बसों को लेने से मना कर रहे हैं. कांग्रेस और योगी सरकार के बीच चल रही इस तनातनी के बीच मायावती ने कांग्रेस को सुझाव दिया है.

मायावती ने ट्वीट कर कहा कि पिछले कई दिनों से प्रवासी श्रमिकों को घर भेजने के नाम पर खासकर बीजेपी व कांग्रेस द्वारा जिस प्रकार से घिनौनी राजनीति की जा रही है यह अति-दुर्भाग्यपूर्ण. कहीं ऐसा तो नहीं ये पार्टियां आपसी मिलीभगत से एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करके त्रास्दी पर से ध्यान बांट रही हैं?

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि यदि ऐसा नहीं है तो बी.एस.पी. का कहना है कि कांग्रेस को श्रमिक प्रवासियों को बसों से ही घर भेजने में मदद करने पर अड़ने की बजाए, इनका टिकट लेकर ट्रेनों से ही इन्हें इनके घर भेजने में इनकी मदद करनी चाहिये तो यह ज्यादा उचित व सही होगा.

उन्होंने कहा कि जबकि इन्हीं सब बातों को खास ध्यान में रखकर ही बीएसपी के लोगों ने अपने सामर्थ्य के हिसाब से प्रचार व प्रसार के चक्कर में ना पड़कर पूरे देश में इनकी हर स्तर पर काफी मदद की है अर्थात् बीजेपी व कांग्रेस पार्टी की तरह इनकी मदद की आड़ में कोई घिनौनी राजनीति नहीं की है.

बीजेपी की बातों को दोहराते हुए मायावती ने कहा बीएसपी की कांग्रेस पार्टी को यह भी सलाह है कि यदि कांग्रेस को श्रमिक प्रवासियों को बसों से ही उनके घर वापसी में मदद करनी है अर्थात ट्रेनों से नहीं करनी है तो फिर इनको अपनी ये सभी बसें कांग्रेस-शासित राज्यों में श्रमिकों की मदद में लगा देनी चाहिये तो यह बेहतर होगा.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन वगैरा का नाम जरूर होगा....

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने और मौत के आंकड़ों का...

अब बीजेपी नेता बग्गा पर कसा शिकंजाः राजीव गांधी पर अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए एफआईआर दर्ज

पैगाम ब्यूरोः बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के बाद अब बीजेपी के एक और बड़बोले नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की परेशानी बढ़ती नजर आ...

लॉकडाउन के बीच फिर सड़क पर राहुल, प्रवासी मजदूरों के बाद टैक्सी ड्राइवर से जाना हाल

पैगाम ब्यूरोः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्री एयरकंडीशन दफ्तरों में बैठ कर कोरोना संकट दूर करने और प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को सुलझाने...

More Articles Like This