क्या बीजेपी में होने जा रहा है बसपा का विलयः बीजेपी की ढाल बन गयी हैं मायावती

Must Read

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन...

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने...

पैगाम ब्यूरोः उत्तर प्रदेश में जिस तरह के राजनीतिक घटनाक्रम नजर आ रहे हैं. उसे देख कर तो ऐसा महसूस हो रहा है कि अपनी राजनीतिक हैसियत को बचाने के लिए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) जल्द ही बीजेपी में विलय कर लेगी. पिछले चंद दिनों में मायावती जिस तरह से बीजेपी की ढाल बन कर सामने आयी हैं, उससे तो भविष्य की राजनीति कुछ ऐसी ही कहानी बयान कर रही है.

इन दिनों एक अजीब चलन देखने को मिल रहा है. सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने अगर बीजेपी के खिलाफ कुछ बोला तो जवाब बीजेपी नहीं देती है, बल्कि सबसे पहले मायावती सामने आती हैं और कांग्रेस पर निशाना साधने लगती हैं.

राजस्थान सरकार द्वारा यूपी सरकार से बसों का किराया लेने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोई बयान नहीं दिया है, क्योंकि उन्हें पता है कि इसमें किसकी गलती है, लेकिन मायावती ने बगैर कुछ सोचे-समझे कांग्रेस पर तीर चला दिया.

पिछले दिनों राहुल गांधी ने दिल्ली में प्रवासी मजदूरों से मुलाकात की थी. उन्होंने फुटपाथ पर बैठ कर मजदूरों की समस्याओं को सुना था. कांग्रेस ने अब मजदूरों से बातचीत का एक वीडियो अपलो़ड किया है. इस वीडियो पर सत्तारुढ़ बीजेपी की प्रक्रिया आने से पहले ही मायावती कूद पड़ीं और उन्होंने इसे कांग्रेस का एक नाटक करार दे डाला.

मायावती ने ट्वीटर पर कांग्रेस के खिलाफ दिल खोल कर अपने दिल की भड़ास निकाली है. कांग्रेस के खिलाफ उन्होंने ऐसे-ऐसे इल्जाम लगाये हैं कि उन इल्जामों को लगाने से पहले बीजेपी भी एक बार सोचेगी, लेकिन मायावती ने खुल कर कांग्रेस पर निशाना साधा है.

बता दें कि शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विपक्षी दलों की एक बैठक बुलायी थी, जिसमें भी मायावती शामिल नहीं हुई थीं. इसके साथ ही बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए उन्होंने मध्य प्रदेश में 24 सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव में सभी सीटों पर बसपा के उम्मीदवार उतारने का भी एलान कर दिया है.

जानकारों का मानना है कि उत्तर प्रदेश में मायावती की राजनीति समाप्त हो चुकी है. उन्होंने हमेशा विपक्ष को धोखा दिया है. जिस अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव में उन्हें ज्यादा सीट दी, उसी अखिलेश से चुनाव के बाद उन्होंने नाता तोड़ लिया. पिछले कुछ महीने में प्रियंका गांधी यूपी में काफी सक्रिय हुई हैं. कोरोना काल में तो उनकी सक्रियता देखते ही बन रही है. उन्होंने अपनी राजनीतिक चालों से योगी आदित्यनाथ की नींद हराम कर दी है, लेकिन सबसे ज्यादा परेशान मायावती हैं, क्योंकि जिस दलित-मुस्लिम वोट बैंक के सहारे मायावती इतने दिनों तक सियासी बाजीगरी कर रही हैं. प्रियंका गांधी ने वहीं चोट मारी है.

दूसरी तरफ भीम आर्मी भी एक बड़ी ताकत बन कर राज्य में उभरी है. भीम आर्मी के चंद्रशेखर आजाद ने आजाद समाज पार्टी नाम से राजनीतिक दल का भी गठन कर लिया है. जिस तेजी से उनकी लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही है, वो मायावती और बसपा के लिए खतरे की घंटी है. ऐसे में मायावती के पास बीजेपी के साथ जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं है. इसलिए उन्होंने अभी से ही संदेश देना शुरू कर दिया है वो जल्द ही योगी और मोदी के साथ नजर आ सकती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

देश के सबसे अक्षम और जालिम मुख्यमंत्री हैं योगी

पैगाम ब्यूरोः प्रवासी मजदूरों के मामले में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बयान से देश भर में...

सोनू सूदः एक विलेन जो सिर्फ हीरो पर नहीं, सरकार पर भी पड़ गया भारी

पैगाम ब्यूरोः भारतीय सिनेमा का जब भी इतिहास लिखा जायेगा, उसमें अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन वगैरा का नाम जरूर होगा....

अखिलेश यादव का कटाक्षः अगर काढ़ा और च्यवनप्राश से ठीक होता है कोरोना तो मुफ्त बांटे सरकार

पैगाम ब्यूरोः लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस का आतंक बढ़ता ही जा रहा है. नये मामले सामने आने और मौत के आंकड़ों का...

अब बीजेपी नेता बग्गा पर कसा शिकंजाः राजीव गांधी पर अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए एफआईआर दर्ज

पैगाम ब्यूरोः बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के बाद अब बीजेपी के एक और बड़बोले नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की परेशानी बढ़ती नजर आ...

लॉकडाउन के बीच फिर सड़क पर राहुल, प्रवासी मजदूरों के बाद टैक्सी ड्राइवर से जाना हाल

पैगाम ब्यूरोः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्री एयरकंडीशन दफ्तरों में बैठ कर कोरोना संकट दूर करने और प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को सुलझाने...

More Articles Like This