आखिर कब होगी दीपक चौरसिया की गिरफ्तारी, महाराष्ट्र में दंगा भड़काने की लगातार कर रहा है कोशिश

0
730

पैगाम ब्यूरोः दीपक चौरसिया खुद को पत्रकार कहते हैं, लेकिन ये पत्रकार तो कतई नहीं हो सकते. इनकी लगातार यही कोशिश रहती है कि किसी तरह हिंदू-मुसलमान का दंगा हो जाये. कोरोना और तबलीगी जमात के नाम पर देश में हिंदू समाज को मुसलमानों के खिलाफ भड़काने में सबसे अहम रोल इसी व्यक्ति ने निभाया है.

तबलीगी जमात का मिशन पूरा करने के बाद दीपक चौरसिया ने महाराष्ट्र का रुख किया और पालघर में दो साधुओं की हत्या की घटना को सांप्रदायिक रंग देने की पूरी कोशिश की, लेकिन महाराष्ट्र सरकार के सामने उनकी एक न चली. पर ये व्यक्ति बाज नहीं आ रहा है.

दीपक चौरसिया का अगला टार्गेट महाराष्ट्र में करवा कर उद्धव ठाकरे की सरकार को बदनाम करने की है. इसके लिए ये तथाकथित पत्रकार लगातार हिंदू-मुसलमान पर आधारित अनाप-शनाप खबरें पेश कर रहा है. दीपक चौरसिया ने एक बार फिर से महाराष्ट्र में साधु समाज पर अत्याचार का आरोप लगा कर हिंदुओं को भड़काने की कोशिश की है.
दीपक चौरसिया ने ट्वीट कर कहा है, “महाराष्ट्र में संतों को लगातार निशाना बनाया जा रहा है. पालघर में दो साधुओं की हत्या का मामला अभी पूरी तरह शांत भी नहीं हुआ था कि अब नांदेड़ में एक साधु की हत्या कर दी गई. उमरी तालुका के नागठाना में बदमाशों ने बाल ब्रह्मचारी शिवाचार्य की हत्या कर दी.”

अगर दीपक चौरसिया वाकई पत्रकार होते तो उन्हें सिर्फ महाराष्ट्र में साधुओं की हत्या होती नजर नहीं आती. उन्हें उत्तर प्रदेश में साधुओं की हत्या दिखायी नहीं देती है. पिछले दिनों ही बुलंदशहर में दो साधुओं और गोरखपुर में एक साधु की हत्या कर दी गयी. वहीं अयोध्या में भूख से एक साधु की जान चली गयी, जिनकी लाश पुलिस ने नदी में फेंक दी, लेकिन दीपक चौरसिया या किसी भी गोदी मीडिया के लिए ये खबर नहीं थी, क्योंकि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की हुकूमत जो है.

सबसे बड़ी बात ये है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बातें तो बड़ी-बड़ी करते हैं, लेकिन जब कार्रवाई करने की बात होती है तो वो भी दूसरों की तरह ही खिसक जाते हैं. दीपक चौरसिया पिछले काफी दिनों से महाराष्ट्र में दंगा भड़काने के लिए फेक न्यूज चला रहा है, लेकिन महाराष्ट्र सरकार या मुंबई पुलिस किसी ने भी अभी तक उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here