logo

International

Blog

कश्मीर में भारतीय कार्रवाई अस्वीकारः अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार

पैगाम ब्यूरोः अमेरिकी सांसद और डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बर्नी सैंडर्स ने जम्मू कश्मीर के मौजूद हालात पर न सिर्फ चिंता जतायी है, बल्कि उन्होंने कहा है कि कश्मीर में भारतीय कार्रवाई स्वीकार नहीं है.

शनिवार को ह्यूस्टन में उत्तरी अमेरिका की इस्लामिक सोसाइटी के सालाना सम्मेलन को संबोधित करते हुए अमेरिका के वरिष्ठ  नेता बर्नी सैंडर्स ने कहा कि मैं कश्मीर के हालात को लेकर काफी चिंतित हूं, जहां भारत सरकार ने कश्मीरी स्वायत्तता हटा दी है और असहमति को दबा दिया है. 

उन्होंने कहा कि कश्मीर में सुरक्षा के नाम पर विरोध की आवाज को दबाने से वहां लोगों को इलाज तक मिलने में बाधा आ रही है. अमेरिकी सांसद ने कहा कि भारत में कई डॉक्टरों ने माना है कि कश्मीर में भारत सरकार की तरफ से लगायी गयी पाबंदी के कारण मरीजों को जीवनरक्षक इलाज नहीं मिल पा रहा है.

अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार ने कहा कि जम्मू कश्मीर में संचार सेवाओं पर लगायी गयी पाबंदी फौरन हटा लेनी चाहिए. उन्होंने कहा कि अमेरिकी सरकार को अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकारों के समर्थन में खुल कर बोलना चाहिए. साथ ही संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के तहत कश्मीरी जनता की मर्जी को अहमियत देने की बात होनी चाहिए. 

आपको बता दें कि दो दिन पहले ही अमेरिकी सांसद एंडी लेविन ने भी कश्मीर को लेकर उठाये गये भारत सरकार के कदमों की आलोचना करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकतांत्रिक मूल्यों और मानवाधिकारों को चोट पहुंचायी है. कुछ अमेरिकी विशेषज्ञों का यह भी मानना है कि कश्मीर के हालात का असर अफगानिस्तान में शांति वार्ता पर भी पड़ सकता है.


* आप सभी से आवेदन है कि प्लीज पैगाम के पेज को लाइक करें और अपने साथियों को भी लाइक करने के लिए कहें. मेहरबानी होगी. खबरों को पढ़ कर शेयर करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक खबर पहुंच सके. https://www.facebook.com/paighamtelevision/

(धन्यवाद)