logo

National

Blog

दिल्ली सरकार की नजरों में कन्हैया नहीं हैं देशद्रोही, मुकदमा चलाने की नहीं देगी इजाजत

पैगाम ब्यूरोः दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को देशद्रोही नहीं मानती है. इसलिए अरविंद केजरीवाल सरकार दिल्ली पुलिस को कन्हैया कुमार समेत 10 लोगों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की इजाजत नहीं देगी. 

सूत्रों के मुताबिक केजरीवाल सरकार मानती है कि इस मामले में दिल्ली पुलिस ने जो सबूत पेश किए हैं उनके आधार पर देशद्रोह का मामला नहीं बनता है. दिल्ली के गृहमंत्री सत्येंद्र जैन ने इस मामले में अपनी राय दी है. उन्होंने कहा है कि पुलिस ने जो सबूत पेश किया है, उसके मुताबिक कन्हैया और अन्यों पर देशद्रोह का मामला नहीं बनता है.

दिल्ली सरकार के इस विचार को उस कोर्ट के सामने पेश किया जायेगा, जहां मामले की सुनवाई चल रही है. दिल्ली के उपराज्यपाल और दिल्ली पुलिस को भी इस मामले पर दिल्ली सरकार के रुख से अवगत कराया जायेगा.

आपको बता दें कि 9 फरवरी 2016 में कन्हैया कुमार समेत कुल 10 छात्रों पर जेएनयू में राष्ट्र विरोधी नारे लगाने का आरोप लगा था. जिसके बाद हुए काफी हंगामे के बाद कन्हैया कुमार को गिरफ्तार करके तिहाड़ जेल भेज दिया गया था.  दिल्ली पुलिस ने जनवरी 2019 में इस मुद्दे को लेकर कोर्ट में चार्जशीट दायर की थी. चार्जशीट दायर करने के बाद कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को जमकर फटकार लगाई थी. कोर्ट ने कहा था कि देशद्रोह के आरोपों पर दिल्ली सरकार की मंजूरी क्यों नहीं ली गई?


* आप सभी से आवेदन है कि प्लीज पैगाम के पेज को लाइक करें और अपने साथियों को भी लाइक करने के लिए कहें. मेहरबानी होगी. खबरों को पढ़ कर शेयर करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक खबर पहुंच सके. https://www.facebook.com/paighamtelevision/

(धन्यवाद)