logo

National

Blog

चंद्रबाबू नायडू और उनके बेटे को पुलिस ने किया नजरबंद

पैगाम ब्यूरोः  आंध्र प्रदेश में तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) और सत्तारुढ़ दल वाईएसआर कांग्रेस के बीच जारी घमासान ने नया मोड़ ले लिया है. पुलिस ने टीडीपी प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और उनके बेटे नारा लोकेश सहित पार्टी के कई नेताओं को नजरबंद कर दिया है. वाईएसआर कांग्रेस की राजनीतिक हिंसा के खिलाफ चंद्रबाबू नायडू 'चलो आत्माकुर' रैली के लिए अपने निवास स्थान (अमरावती) से आत्माकुर के लिए निकल ही रहे थे, तभी  पुलिस ने उनके घर का मुख्य गेट बंद कर उन्हें रोक दिया.

टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि यह सरकार मानवाधिकारों और मौलिक अधिकारों का उल्लंघन कर रही है. मैं सरकार और पुलिस को चेतावनी दे रहा हूं. आप इस तरह की राजनीति नहीं खेल सकते. आप हमें गिरफ्तार करके नियंत्रित नहीं कर सकते हैं. 

आपको बता दें कि एक तेलुगु देशम पार्टी नेता की हत्या के खिलाफ आज राज्य भर में टीडीपी नेता विरोध प्रदर्शन करने वाले थे. टीडीपी ने बुधवार को गुंटूर के पलनाडू में 'चलो आत्मकूरु' रैली बुलाई थी. आंध्र प्रदेश पुलिस ने पार्टी को रैली की इजाजत दिए जाने से इनकार कर दिया और नरसरावपेटा, सत्तेनापल्ले, पलनाडू और गुराजला में धारा 144 लागू कर दी गयी. 

तेलुगु देशम पार्टी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू सुबह 9 बजे आत्मकूरु के लिए निकलने वाले थे लेकिन उन्हें रोक दिया गया. इसके बाद उन्होंने अपने घर पर ही 12 घंटे तक भूख हड़ताल का ऐलान किया. उन्होंने टीडीपी कार्यकर्ताओं से भी भूख हड़ताल करने को कहा. बाद में उन्हें और उनके बेटे नारा लोकेश को नजरबंद कर दिया गया. 


* आप सभी से आवेदन है कि प्लीज पैगाम के पेज को लाइक करें और अपने साथियों को भी लाइक करने के लिए कहें. मेहरबानी होगी. खबरों को पढ़ कर शेयर करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक खबर पहुंच सके. https://www.facebook.com/paighamtelevision/

(धन्यवाद)