logo

Politics

Blog

चुनाव से पहले शिवसेना ने ठोंका सीएम की कुर्सी पर दावा, उद्धव बोले शिवसैनिक ही बनेगा मुख्यमंत्री

पैगाम ब्यूरोः बीजेपी और शिवेसना महाराष्ट्र विधानसभा का चुनाव मिल कर लड़ रहे हैं. लेकिन चुनाव से पहले ही शिवेसना ने मुख्यमंत्री की कुर्सी पर दावा ठोंक दिया है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एलान किया है कि इस बार मुख्यमंत्री की कुर्सी पर कोई शिवसैनिक ही बैठेगा. मैंने अपने पिता बालासाहेब ठाकरे को यह वचन दिया था, जिसे मैं पूरा कर के रहुंगा.  

पार्टी के मुखपत्र 'सामना' को दिये गये एक इंटरव्यू में उद्धव ने कहा कि 24 तारीख के बाद मैं दोबारा बोलूंगा. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद पर शिवसैनिक को बैठाकर दिखाऊंगा, ये मेरा शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे को वचन है.

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि कोई सुने या न सुने, ये वचन मैंने किसी से पूछकर नहीं दिया. ये वचन मैंने मेरे गुरु, मेरे पिता, मेरे नेता को दिया है. यह वचन  मैंने किसी की अनुमति से नहीं दिया है. किसी की अनुमति की जरूरत नहीं है. मतलब महाराष्ट्र को शिवसेना का मुख्यमंत्री मिलेगा.

इस बार उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे भी चुनाव लड़े रहे हैं. पार्टी ने उन्हें वर्ली से चुनावी मैदान में उतारा है. यह पहला मौका है जब ठाकरे परिवार का कोई सदस्य चुनाव में उतरा है. ऐसे में यह अटकलें लग रही हैं कि उद्धव ठाकरे अपने बेटे को कुर्सी पर बिठा कर राजनीति से संयास ले लेंगे, लेकिन उन्होंने इस बात का खंडन किया है.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि आदित्य ठाकरे चुनाव लड़ रहे हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि मैंने राजनीति से संन्यास ले लिया है और खेती करने गया हूं, मैं यहीं हूं.

बता दें कि बालासाहेब ठाकरे के जमाने में शिवसेना-बीजेपी गठबंधन की जीत की स्थिति में मुख्यमंत्री शिवसेना का और डिप्टी सीएम बीजेपी का होता था, लेकिन अब स्थिति बदल गयी है. अब मुख्यमंत्री की कुर्सी बीजेपी के खाते में चली गयी है, जिस पर दावा ठोंक कर उद्धव ने बीजेपी को सीधे-सीधे चैलेंज कर दिया है. माना जा रहा है कि वह अपने बेटे को मुख्यमंत्री बनाने के लिए चुनाव के पहले से ही बीजेपी पर दबाव डालना चाहते हैं. 

दूसरी तरफ बीजेपी से गठबंधन होने के बावजूद शिवसेना ने बीजेपी के खाते वाली दो सीटों पर अपना उम्मीदवार मैदान में उतार दिया है. कंकावली और माण सीट बीजेपी के खाते में गयी है. बीजेपी ने यहां से नितेश राणे और जयकुमार गोरे को टिकट दिया है. इसके बावजूद शिवसेना ने कंकावली में नितेश राणे के खिलाफ सतीश सावंत और माण सीट से जयकुमार गोरे के खिलाफ शेखर गोरे को मैदान में उतार कर मुकाबले को बेहद दिलचस्प बना दिया है. बीजेपी के यह दोनों उम्मीदवार हाल ही में कांग्रेस छोड़ कर बीजेपी में शामिल हुए हैं. 


* आप सभी से आवेदन है कि प्लीज पैगाम के पेज को लाइक करें और अपने साथियों को भी लाइक करने के लिए कहें. मेहरबानी होगी. खबरों को पढ़ कर शेयर करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक खबर पहुंच सके. https://www.facebook.com/paighamtelevision/(धन्यवाद)