logo

International

Blog

इमरान का बड़ा एलानः बगैर पास्पोर्ट करतारपुर जा सकेंगे भारतीय श्रद्धालु

पैगाम ब्यूरोः पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बड़ा एलान करते हुए कहा है कि भारत से करतारपुर आने वाले सिख तीर्थयात्रियों को पासपोर्ट की आवश्यकता नहीं होगी और गुरु नानक देव की 550वीं जयंती तथा उद्घाटन समारोह के दिन उनसे कोई फीस भी नहीं वसूला जायेगा. 

 इमरान खान ने आज ट्वीट कर एलान किया कि करतापुर कॉरिडोर को 9 नवम्बर से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया जायेगा. इमरान खान ने कहा कि भारत से करतारपुर आने वाले सिख तीर्थयात्रियों को पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी, सिर्फ पहचान पत्र की जरूरत पड़ेगी. उन्हें 10 दिन पहले रजिस्ट्रेशन कराने की भी जरूरत नहीं है. उनसे गुरु जी की 550वीं जयंती और उद्घाटन समारोह पर कोई फीस भी नहीं वूसला जायेगा. 

बता दें कि यह कॉरिडोर पंजाब के गुरदासपुर में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे को करतारपुर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब से जोड़ता है जो अंतरराष्ट्रीय सीमा से सिर्फ चार किलोमीटर की दूरी पर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नरोवाल जिले में स्थित है. सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने पाकिस्तान के करतारपुर में रावी नदी के किनारे स्थित दरबार साहिब गुरुद्वारे में अपनी जिंदगी के 18 साल बिताये थे, जो सिख श्रद्धालुओं के लिए बेहद पवित्र स्थल है. दोनों देशों के बीच पिछले हफ्ते इस कॉरिडोर को लेकर हुए समझौते के तहत 5,000 भारतीय तीर्थ यात्रियों को रोजाना दरबार साहिब गुरुद्वारे के दर्शन करने की इजाजत होगी. इसके लिए उन्हें करीब 1400 रुपये (20 डॉलर) देने होंगे. 


* आप सभी से आवेदन है कि प्लीज पैगाम के पेज को लाइक करें और अपने साथियों को भी लाइक करने के लिए कहें. मेहरबानी होगी. खबरों को पढ़ कर शेयर करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक खबर पहुंच सके. https://www.facebook.com/paighamtelevision/(धन्यवाद)