logo

National

Blog

अयोध्या फैसले से पहले सरकार सख्तः नफरत फैलाने वाले 20 लाख व्हाट्सएप ग्रुप बंद

पैगाम ब्यूरोः अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला किसी भी वक्त आ सकता है. देश के इस सबसे विवादित मामले का फैसला सुनने के लिए पूरी दुनिया उत्सुक है. हर किसी की नजर इसी तरफ लगी हुई है. फैसला आने से पहले सरकार ने सख्ती दिखानी शुरू कर दी है.   केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को अलर्ट रहने और सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने वालों के खिलाफ सख्ती बरतने का निर्देश दिया है. 

सूत्रों के मुताबिक सरकार के निर्देश पर वॉट्सऐप ने एक महीने में देशभर में 20 लाख ग्रुप और अकाउंट बंद कर दिये हैं. वॉट्सऐप की तरफ से बताया गया है कि अयोध्या फैसले के मद्देनजर अपने प्लेटफार्म का गलत इस्तेमाल रोकने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का इस्तेमाल कर संदिग्ध गतिविधियों वाले ग्रुपों और नंबरों की पहचान कर उन्हें ब्लॉक किया जा रहा है.

फेसबुक भी अपने सभी अकांउट्स पर नजर रखे हुए है. फेसबुक पर भी नफरत फैलाने वालों को ब्लॉक किया जा रहा है. सरकार वॉट्सऐप और फेसबुक के अलावा ट्विटर, टेलीग्राम और सिग्नल जैसे नये एप पर भी नजर रखे हुए है. नफरत फैलाने वाले लोगों का बड़ा तबका  नये एप के जरिए गड़बड़ी फैलाने का इस्तेमाल रहा है. इनसे निपटने के लिए गृह मंत्रालय की आंतरिक सुरक्षा विंग ने व्यापक तैयारी की है.

संवेदनशील क्षेत्रों में पर्याप्त सुरक्षाबल तैनात कर दिये गये हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले लाखों की संख्या में श्रद्धालु अयोध्या पहुंच रहे हैं. केंद्र ने वहां अर्द्धसैनिक बलों के करीब 4000 जवान तैनात किये हैं. 

दूसरी तरफ आरपीएफ ने अपने सभी जवानों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं. इन्हें ट्रेनों में तैनात किया जा रहा है. केंद्र सरकार ने अपने निर्देशिका में रेलवे स्टेशन, रेलवे प्लेटफॉर्म, यार्ड, पार्किंग, पुल और सुरंगों की सुरक्षा बढ़ाने को कहा है. देश के बड़े शहरों के स्टेशनों की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. 


* आप सभी से आवेदन है कि प्लीज पैगाम के पेज को लाइक करें और अपने साथियों को भी लाइक करने के लिए कहें. मेहरबानी होगी. खबरों को पढ़ कर शेयर करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक खबर पहुंच सके. https://www.facebook.com/paighamtelevision/(धन्यवाद)