कोरोना का खौफः छह महीने तक मुफ्त में चावल और गेहूं देगी सरकार

0
288

पैगाम ब्यूरोः कोरोना वायरस ने लोगों को दहशत में डाल दिया है. इस रोग से ग्रस्त मरीजों की तादाद बढ़ती जा रही है. इस रोग के कारण अब आमलोगों की कमाई पर भी असर पड़ने लगा है. जिस तरह से धड़ाधड़ बाजार, दुकान, सिनेमा हॉल, प्राइवेट दफ्तर, शॉपिंग मॉल, रेस्टुरेंट इत्यादि बंद हो रहे हैं. उसका असर आम लोगों की कमाई पर पड़ने लगा है. इस स्थिति को देखते हुए पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. सरकार अगले छह महीने तक लोगों को मुफ्त में चावल और गेहूं देगी.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को यह एलान किया. पिछले 24 घंटे में यह जानलेवा बीमारी और तेजी से बढ़ी है. देश के अन्य राज्यों की तरह पश्चिम बंगाल में भी लोग बेहद आतंक में है. यहां अब तक आधिकारिक तौर पर कोरोना के दो मरीज पाये गये हैं. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी परिस्थिति का जायजा लेने के बाद आज मीडिया के रुबरु हुईं.

 

शुक्रवार को राज्य सचिवालय में मीडिया को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने मुफ्त चावल और गेहूं देने का एलान किया. उन्होंने कहा कि राशन दुकानों से 7 करोड़ 68 लाख लोगों को अगले छह महीने अर्थात सितंबर तक मुफ्त में चावल और गेहूं दिया जायेगा. उनकी सरकार हर महीने प्रत्येक परिवार को 5-5 किलो चावल और गेहूं मुफ्त में देगी. मिड-डे मील और दूसरी सरकारी परियोजनाओं को भी यह लाभ उपलब्ध कराया जायेगा.

इस मौके पर ममता बनर्जी ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर बंगाल को वंचित किये जाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से मुकाबले में केंद्र किसी प्रकार की सहायता नहीं कर रहा है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि परिस्थिति का मुकाबला करने के लिए हमलोग एक आपतकाल राहत फंड तैयार करने जा रहे हैं. सोमवार को स्टेट इमरजेंसी रिलिफ फंड तैयार किया जायेगा. जो लोग भी कोरोना के खिलाफ लड़ी जा रही इस जंग में मदद करना चाहते हैं, वो इस फंड में आर्थिक सहायता कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here