सऊदी शेख की मांगः इस्लाम के खिलाफ नफरत फैला रहे हिंदूओं को खाड़ी देशों से निकाला जाये

0
1561

पैगाम ब्यूरोः भारत में मुसलमानों के खिलाफ फैलायी जा रही नफरत की आग अब मुस्लिम देशों तक पहुंच गयी है. सऊदी अरब के एक शेख और प्रमुख बुद्धिजीवि शेख आबिदी ज़हरानी ने मुसलमानों के खिलाफ नफरत फैलाने वाले हिंदुओं को खाड़ी देशों से बाहर निकालने की मांग की है.

मिडिल ईस्ट मॉनिटर की एक रिपोर्ट के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार के शासन काल में मुसलमानों के ऊपर हमले बढ़ गये है. बीजेपी के प्रति वफादार हिंदू कोरोना वायरस के प्रसार के लिए मुसलमानों को दोषी ठहराते हैं.

अखबार के मुताबिक नरेंद्र मोदी को 2002 के गुजरात दंगों में उनकी भूमिका पर अमेरिका आने से रोक दिया गया था. इस दंगे में 1,000 से ज्यादा मुसलमान मारे गये थे. मोदी के समर्थकों ने वायरस को “कोरोना जिहाद” करार दिया है और ये झूठा इल्जाम फैलाया है कि महामारी मुसलमानों द्वारा हिंदुओं को संक्रमित करने और जहर देने की साजिश है.

शेख आबिदी ज़हरानी ने मिडिल इस्ट, खासतौर से खाड़ी देशों की सरकारों से भारत के मुसलमानों के खिलाफ बरती जा रही इस दुश्मनी का जवाब देने का आग्रह किया है, ताकि चरमपंथी हिंदू विचारधारा के प्रति सहानुभूति दिखाने वाले किसी भी व्यक्ति पर शिकंजा कसा जा सके. उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर “Send_Hindutva_Back_home” हैशटैग भी चलाया है.

उन्होंने ट्वीट कर कहा है, “मैं सभी सम्मानित अनुयायियों से आग्रह करता हूं कि वे उन सभी उग्रवादी हिंदुओं की लिस्ट बनायें, जो खाड़ी देशों में काम कर रहे हैं और इस्लाम, मुसलमानों या हमारे प्यारे पैगंबर के खिलाफ नफरत फैला रहे हैं.”

एक दूसरे ट्वीट में शेख आबिदी ज़हरानी ने कहा, “खाड़ी देश लाखों भारतीयों की मेजबानी करते हैं, जिनमें से कुछ COVID-19 से संक्रमित हैं, उनके धर्म की परवाह किये बगैर मुफ्त में इलाज किया जाता है, जबकि हिन्दुत्व आतंकवादियों का गिरोह मुसलमान नागरिकों के खिलाफ अपराध कर रहे हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here