दो दिनों से दंगे की आग में झुलस रहा है तेलिनीपाड़ा

0
1815

पैगाम ब्यूरोः यूं तो पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की हुकुमत है, लेकिन लगता है कि या तो उन्होंने बीजेपी के सामने हथियार डाल दिये हैं या फिर बीजेपी से हाथ मिला लिया है. जिसका सबूत है पश्चिम बंगाल के हुगली जिले का तेलिनीपाड़ा इलाका. जहां पुलिस और प्रशासन की नजरों के सामने दंगाईयों ने मुसलमानों का जीना हराम कर दिया है.

तेलिनीपाड़ा हमेंशा से बेहद संवेदनशील इलाका रहा है. यहां पहले भी कई बार फसाद हो चुके हैं. राज्य में ममता बनर्जी के नेतृत्व में एक धर्मनिरपेक्ष सरकार होने के बावजूद तेलिनीपाड़ा में दंगाईयों की हुकुमत है.

दो दिन से यहां दंगे हो रहे हैं. कोरोना फैलाने का आरोप लगाते हुए पहले तो मुसलमानों के आने-जाने पर प्रतिबंध लगाया गया. उसके बाद जब मुसलमानों ने इसका विरोध किया तो उनपर हमला कर दिया गया.

मुसलमानों के घरों, दुकानों, मस्जिदों को नुक्सान पहुंचाया जा रहा है. बमबाजी की जा रही है. स्थानीय लोगों का आरोप है कि बीजेपी के समर्थन में दंगा किया जा रहा है. गंभीर बात ये है कि बीजेपी हिंदूओं पर अत्याचार होने का आरोप लगा रही है. स्थानीय बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह खुलेआम सोशल मीडिया पर अपने कार्यकर्ताओं के साथ वहां आने की धमकी दे रहे हैं.

तेलिनीपाड़ा के दंगे में सबसे घटिया रोल तो पुलिस का है. पुलिस की मौजूदगी में दंगाई खूनी खेल खेल रहे हैं. उन्हें किसी का डर नहीं हैं. उन्हें कोई रोकने वाला नहीं है. पुलिस दंगाईयों को रोकने के बजाय घरों में घुस-घुस कर नौजवानों को पकड़ कर ले जा रही है.

मुस्लिम औरतें विरोध कर रही है, लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है. जिस तृणमूल कांग्रेस को मुसलमानों ने वोट दिया था, इस संकट की घड़ी में तृणमूल कांग्रेस का कोई नेता उनकी मदद के लिए नहीं आ रहा है. तेलिनीपाड़ा की स्थिति बेहद भयावह बनी हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here