ममता बनर्जी का बड़ा एलानः बंगाल के लोगों को वापस लाने के लिए 105 ट्रेनें चलायेगी बंगाल सरकार

0
492

पैगाम ब्यूरोः लॉकडाउन के चलते देश भर में लाखों की संख्या में प्रवासी मजदूर और दूसरे लोग फंसे हुए हैं. पश्चिम बंगाल के जो लोग देश के विभिन्न राज्यों में फंसे हुए हैं, उनके लिए राज्य सरकार ने 105 स्पेशल ट्रेन चलवाने का फैसला लिया है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को ये एलान किया.

ममता बनर्जी ने ट्वीट कर कहा, “देश के अलग-अलग हिस्सों में फंसे हमारे सभी लोगों की मदद करने और जो लोग बंगाल वापस लौटना चाहते हैं, उनके लिए मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि हमने 105 अतिरिक्त विशेष ट्रेनों की व्यवस्था की है.” बता दें कि राज्य सरकारों की सिफारिश पर रेलवे द्वारा स्पेशल ट्रेनें दी जा रही हैं.

ममता बनर्जी के मुताबिक, “आने वाले दिनों में, ये विशेष ट्रेनें विभिन्न राज्यों से पूरे बंगाल के विभिन्न गंतव्यों के लिए हमारे लोगों को घर वापस लायेंगी. ये ट्रेनें कब और कहां से रवाना होंगी, इसकी जानकारी भी ममता ने अपने ट्वीट में दी है.” ट्वीट में शेयर किये गये लिंक पर क्लिक कर टाइमिंग देखी जा सकती है.”

बता दें कि बंगाल के फंसे हुए लोगों के लिए काफी राजनीति हो रही है. इस आग में घी डालने का काम केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने किया. जो लॉकडाउन के दौरान पूरी तरह खामोश हैं, लेकिन जब उन्होंने मुंह खोला तो इसकी शुरूआत झूठ से ही की.

अमित शाह ने बंगाल के फंसे हुए लोगों के मुद्दे पर ममता बनर्जी को चिट्ठी लिखी थी. इस चिट्ठी में उन्हों कहा था कि दूसरे राज्यों में मौजूद बंगाल के मजदूर अपने राज्य आना चाहते हैं, लेकिन राज्य सरकार का रवैया ठीक नहीं है. लोगों को अपने यहां लाने में बंगाल सरकार तत्परता नहीं दिखा रही और राज्य में ट्रेनों को प्रवेश करने की मंजूरी नहीं दे रही है.

इस बेबुनियाद आरोप पर घमासान मच गया था. ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई बैठक में भी इस मुद्दे को उठाया था. ममता बनर्जी की पार्टी की तरफ से भी अमित शाह पर पलटवार किया गया था. तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी ने अमित शाह पर झूठ बोलने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा था कि अमित शाह अपने इल्जाम को साबित करें या माफी मांगें.

बता दें कि अगले साल पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. अमित शाह की शुरू से ही पश्चिम बंगाल पर नजर रही है. उन्होंने अपनी पूरी ताकत यहां झोंक रखी है. इसी का नतीजा है कि कभी बीजेपी के लिए बंजर रही बंगाल की जमीन ने उसे 18 सांसद दिए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here