योगी का फरमानः काम के लिए दूसरे राज्य जाने वाले कामगारों को अब लेनी होगी इजाजत

0
275

पैगाम ब्यूरोः उत्तर प्रदेश हो या बिहार, इन राज्यों में रोजगार नाम की कोई चीज ही नहीं है. इसलिए काम की तलाश में यूपी और बिहार के कामगार देश के कोने-कोने में घूमते रहते हैं. अब यूपी के कामगारों के लिए राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक नया फरमान जारी किया है. अब से अगर यूपी के श्रमिकों को देश के किसी राज्य में काम के लिए ले जाया जायेगा तो उसके लिए भी राज्य सरकार से इजाजत लेनी होगी.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों में प्रदेश के कामगारों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए जल्द ही ‘प्रवासी आयोग’ गठित किया जायेगा. इसके तहत उत्तर प्रदेश के सभी कामगारों एवं श्रमिकों को रोजगार मुहैया कराने के साथ-साथ सामाजिक सुरक्षा की गारंटी भी दी जायेगी.

योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब तक जितनी भी श्रमशक्ति हमारे पास है. प्रदेश सरकार इनके कौशल की जानकारी इकट्ठा करा रही है. जिसके बाद इन्हें उत्तर प्रदेश में ही रोजगार उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जायेगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे में अगर किसी राज्य को कामगारों की आवश्यकता होगी तो उनकी मांग पर सामाजिक सुरक्षा की गारंटी राज्य सरकार देगी, बीमा करायेगी और श्रमिक एवं कामगार को हर तरह की सुरक्षा देगी. इसके साथ ही कोई भी राज्य सरकार बिना अनुमति के उत्तर प्रदेश के लोगों को श्रमिक व कामगार के रूप में लेकर नहीं जायेगी.

योगी ने कहा कि जिस प्रकार से लॉकाडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों और कामगारों की दुर्गति हुई और उनके साथ जिस प्रकार का दुर्व्यवहार हुआ, उसको देखते हुए प्रदेश सरकार उनकी सामाजिक सुरक्षा की गारंटी अपने हाथों में लेने जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here