चीन के सामने आते ही 56 इंच का सीना 26 इंच का हो जाता है

0
235

पैगाम ब्यूरोः चीनी सैनिकों के हाथों 20 भारतीय जवानों की शहादत से देश में भारी गुस्सा है. पूरा देश उन्हें श्रद्धांजलि दे रहा है और चीन से बदला लेने की मांग कर रहा है. पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस के सचिव जकरिया खान और 43 नंबर वार्ड कांग्रेस अध्यक्ष आफाक अहमद के नेतृत्व में कोलकाता में बड़ी तादाद में लोगों ने शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि दी और चीन से बदला लेने की मांग की.

इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस सचिव जकरिया खान ने कहा कि सिर्फ जबान से बदला लेने की बात कहने से काम नहीं चलेगा. इन सैनिकों की शहादत का बदला लेना होगा. साल 1967 में भारत ने चीन में घुस कर उसके सैकड़ों सैनिकों को मारा था. इस बार भी चीन में घुस कर मारना होगा.

कांग्रेस नेता ने कहा कि इस वक्त देश में बेहद कमजोर सरकार है. जिससे न देश संभल रहा है और न ही देश की सीमा. नेपाल जैसे छोटे देश तक हमें आंख दिखा रहे हैं. पाकिस्तान के सामने तो मोदी जी का सीना 56 इंच का हो जाता है, लेकिन चीन के सामने आते ही 56 इंच 26 इंच बन जाता है. जकरिया खान ने कहा कि हमारे सैनिक बेहद बहादुर और मजबूत हैं. जरूरत है कि बदला लेने के लिए उन्हें खुली छूट दी जाये

उन्होंने कहा कि आज हम आर्थिक रुप से चीन पर काफी हद तक निर्भर हो चुके हैं. लेकिन 1990 से पहले चीन के साथ हमारा व्यवसाय न के बराबर था. तब यहां के  छोटे कारोबारी ही व्यवसाय किया करते थे. जकरिया खान के मुताबिक सिर्फ आत्मनिर्भर कहने से काम नहीं चलेगा. उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए कोशिश करनी होगी. छोटे उद्यमियों और कारोबारियों को सीधे आर्थिक मदद देनी होगी. तभी देश आत्मनिर्भर बनेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here