सचिन पायलट के साथ दिल्ली गये कांग्रेस विधायकों ने कहाः हम कांग्रेस के सच्चे सिपाही

0
553

पैगाम ब्यूरोः ऐसा लग रहा है कि राजस्थान में बीजेपी का ऑपरेशन लोटस दो महीने के अंदर दूसरी बार नाकाम हो गया है. अभी तक कांग्रेस से बगावत के बारे में सचिन पायलट का कोई बयान नहीं आया है. उनके दिल्ली सफर को गोदी मीडिया जबरदस्ती हाईलाइट कर कांग्रेस सरकार गिरने के सपने देख रहा था, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हो रहा है.

पूरी कांग्रेस पार्टी राजस्थान के मुख्यमंत्री के साथ खड़ी हो गयी है. मजे की बात ये है कि जिन 19 विधायकों के बारे में ये कहा जा रहा था कि वो सब सचिन पायलट के साथ बीजेपी से हाथ मिलाने की कोशिश कर रहे हैं. उनमें से तीन विधायकों ने आज साफ एलान कर दिया कि वो सभी कांग्रेस के सच्चे सिपाही हैं.

राजस्थान के राजनीतिक घटनाक्रम पर आज कांग्रेस ने एक प्रेस कांफ्रेंस की. जहां पार्टी ने एलान किया कि कांग्रेस में कोई मतभेद नहीं है. कांग्रेस एकजुट है. इस प्रेस कांफ्रेंस में शनिवार को दिल्ली पहुंचे राजस्थान के तीन कांग्रेस विधायक भी मौजूद थे, जिन्हें गोदी मीडिया सचिन पायलट समर्थक के तौर पर पेश कर रहा था.

कांग्रेस के इन तीनों विधायकों ने प्रेस कांफ्रेंस में साफ शब्दों में कहा कि हम ‘कांग्रेस के सच्चे सिपाही हैं और हमेशा पार्टी के साथ खड़े हैं और खड़े रहेंगे. ये तीनों विधायक आज जयपुर वापस लौट गये.

वहीं एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, इन तीन कांग्रेस विधायकों में से एक विधायक रोहित बोहरा ने बताया कि उनकी दिल्ली की यात्रा ‘व्यक्तिगत’ थी और यहीं पर उनकी मुलाकात अन्य दो कांग्रेस विधायकों के साथ हुई, जो अपने-अपने काम से दिल्ली पहुंचे थे.

हालांकि राजनीति में कब किया हो जाये, इसके बारे में भविष्यवाणी करना असंभव है. राजनीति में कुछ भी मुमकिन है. बीजेपी के पास पैसा और केंद्र की सत्ता है. वहीं सचिन पायलट के दिल में मुख्यमंत्री बनने की आकंक्षा कई साल से दबी पड़ी है. ऐसे में आने वाले दिनों में अगर कोई गुल खिला जाये तो कुछ कहा नहीं जा सकता है. जब राज्यसभा की एक सीट के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे नेते कांग्रेस छोड़ कर बीजेपी में जा सकते हैं तो सचिन पायलट क्यों नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here