चीनी ऐप्प का बहिष्कार एक दिखावाः आईपीएल को स्पांसर करेगी चीनी कंपनी

0
161

पैगाम ब्यूरोः जब से लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन की सेना के बीच झड़प हुई है और इस झड़प में 20 भारतीय सैनिकों की मौत हुई है. तब से भारत में चीन के खिलाफ गुस्सा भड़का हुआ है. देश भर में चीनी सामानों के बहिष्कार की मांग उठ रही है. सरकार ने कुछ चीनी ऐप पर बैन तो लगाया है, लेकिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को इससे कोई लेना-देना नहीं है. उसके लिए पैसा ही सब कुछ है. बीसीसीआई ने एलान कर दिया है कि इस साल भी आईपीएल (IPL) को चीनी कंपनियां स्पांसर करेंगीं.

रविवार को आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल की बैठक हुई. जिसमें आईपीएल के प्रायोजक (स्पांसर) को लेकर अहम फैसला लिया गया. बैठक में इस बात को लेकर आम सहमति बनी कि चीनी मोबाइल कंपनी वीवो (VIVO) आईपीएल का टाइटल स्पांसर बना रहेगा. भारत और चीन के बीच रिश्ते में आई तनातनी के बाद वीवो (VIVO) को आईपीएल के स्पांसर से हटाये जाने की मांग हो रही थी.

न्यूज एजेंसी आईएएनएस से बात करते हुए बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि बीसीसीआई ने आईपीएल के तमाम स्पांसर के करार को जारी रखने पर फैसला लिया है.

बता दें कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली बीसीसीआई के अध्यक्ष हैं. जबकि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह बीसीसीआई के सचिव हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here