अधीर चौधरी ने पीएम से पूछाः करोड़ों लोगों ने किया सीएए का विरोध, लेकिन सिर्फ डॉ कफील कैद में क्यों?

0
476

पैगाम ब्यूरोः खुंखार अपराधी खुले घूम रहे हैं. करोड़ों रुपये की हथियारों की दलाली की सजा मिलने के बावजूद समता पार्टी की पूर्व अध्यक्ष जया जेटली को मिनटों में जमानत मिल जाती है, लेकिन सैकड़ों बच्चों की जान बचाने वाले डॉ कफील खान जैसे मसीहा को सरकार ने जेल में डाल रखा है. न तो यूपी की योगी सरकार उन्हें रिहा कर रही है और न ही अदालत उन्हें जमानत दे रही है. इस स्थिति पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है.

लोकसभा में कांग्रेस दल के नेता अधीर चौधरी ने डॉ कफील खान के साथ हो रही नाइंसाफी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल पूछा है. उन्होंने प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि एक महान चिकित्सक और एक बेहतीन इंसान होने के बावजूद डॉ कफील खान के साथ ये नाइंसाफी क्यों की जा रही है. देश भर में नागरिकता कानून (CAA) का विरोध किया गया, लेकिन सिर्फ डॉ कफील खान पर एनएसए लगा कर उन्हें जानबुझ कर जेल में डाल दिया गया है.

अधीर चौधरी ने ट्वीट कर कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी,  “मैंने अपनी पार्टी की तरफ से CAA का कड़ा विरोध किया. लाखों लोगों ने विरोध किया. लेकिन मेरे या किसी और पर NSA नहीं लगाया गया. फिर एक ही मामले में डॉ कफील खान को कैद क्यों किया गया है. कांग्रेस नेता ने कहा कि रामराज तो अन्याय, भेदभाव और प्रतिशोध का विरोधी है.”

प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में अधीर चौधरी ने कहा कि संविधान ने हम सबको अपनी बात कहने का अधिकार दिया है. इसके बावजूद एक युवा चिकित्सक को क्यों कैद में रखा जा रहा है.

अधीर चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी संयुक्त राष्ट्र समेत कई अंतरराष्ट्रीय मंचों ने आपसे डॉ कफील खान को रिहा करने का आग्रह किया है. मैं भी आपसे अपील करता हूं कि डॉ कफील को फौरन रिहा किया जाये.

बता दें कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में सीएए के खिलाफ चल रहे आंदोलन के दौरान डॉ कफील खान ने भाषण दिया था. जिससे नाराज हो कर यूपी की योगी सरकार ने उन्हें पिछले साल दिसंबर में गिरफ्तार कर लिया. डॉ कफील को जमानत न मिल जाये, इसके लिए योगी सरकार ने उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) लाद दिया है. फिलहाल वो मथुरा जेल में कैद हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here