लव जिहाद के बाद अब नौकरशाही जिहादः सुदर्शन टीवी का मुसलमानों के खिलाफ नया शिगूफा

0
739

पैगाम ब्यूरोः यूं तो भारत के ज्यादातर टीवी न्यूज चैनल मुसलमानों के खिलाफ नफरत फैलाने के अभियान में लगे हुए हैं. इसके लिए कभी लव जिहाद का शिगूफा छोड़ा जाता है तो कभी जमीन जिहाद का नारा बुलंद किया जाता है, लेकिन मुसलमानों के खिलाफ चल रही नफरत फैलाने की होड़ में सुदर्शन टीवी और उसके संपादक ने सबको पीछे छोड़ दिया है.

सरकारी उदासीनता से मायूस होने के बजाय भारत के मुसलमान अपने स्तर पर ही मेहनत कर कुछ करने की हिम्मत दिखा रहे हैं. इसी का नतीजा है कि हाल के कुछ वर्षों में ज्वायंट इंट्रेंस की परीक्षा में पास होने वाले मुस्लिम युवाओं की संख्या बढ़ी है. पहले के मुकाबले अब ज्यादा मुसलमान नौजवान आईएएस और आईपीएस अफसर बन रहे हैं. मुसलमानों के जरिये अपने दम पर हासिल की गई यह कामयाबी भगवा संगठनों को पसंद नहीं आ रही है. फलस्वरुप भगवा संगठनों का प्यारा मीडिया उन्हीं की बोली बोलने के लिए मैदान में उतर पड़ा है.

हमेशा मुसलमानों के खिलाफ जहर उगलने वाले सुदर्शन टीवी और उसके संपादक सुरेश चव्हाण दावा कर रहे हैं कि आईएएस और आईपीएस परीक्षाओं में मुसलमानों की कामयाबी असल में एक गहरी साजिश है. जिसे उन्होंने यूपीएससी जिहाद और नौकरशाही जिहाद का नाम दिया है. सुरेश चव्हाण मुसलमानों द्वारा रची गई इस भयानक साजिश पर से शुक्रवार से रोजाना पर्दा उठायेंगे.

अपने इस कार्यक्रम के जरिये सुदर्शन टीवी और सुरेश चव्हाण ने मुसलमानों को तो निशाना बनाया ही है, साथ में देश के संविधान और कार्यपालिका का भी अपमान किया है.

सुदर्शन टीवी की इस घिनौनी हरकत के खिलाफ सोशल मीडिया पर खुल कर आवाज बुलंद हो रही है. ट्वीटर से उनका अकाउंट रद्द करने की मुहिम शुरू की गई है.

इन सबके बीच अब आईपीएस एसोसिएशन का एक बयान है. जिसने सुदर्शन टीवी के इस कार्यक्रम की निंदा की है. लेकिन इस बयान में कहीं भी सुदर्शन टीवी या सुरेश चव्हाण के खिलाफ कार्रवाई की कोई बात नहीं की गई है.

जाहिर सी बात है कि मोदी राज में ऐसा करने वालों को सजा नहीं, वाहवाही मिलती है. इसलिए सुदर्शन टीवी भी दिनदहाड़े मुसलमानों के खिलाफ नफरत फैला रहा है. जो कोई भी मुसलमानों के खिलाफ जितना जहर उगलेगा, वो इस राज में उतनी ही बुलंदी पर जायेगा. जिसकी मिसाल दिल्ली बीजेपी नेता कपिल मिश्रा है. कल का एक छोटा-मोटा नेता मुसलमानों के खिलाफ जहर उगल कर आज बीजेपी के राष्ट्रीय स्तर का नेता बन चुका है. सुदर्शन टीवी और सुरेश चव्हाण के खिलाफ पहले भी कई शिकायतें दर्ज हो चुकी हैं, लेकिन आज तक उनके खिलाफ किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here