जांच हो रही है सुशांत की मौत की, और गिरफ्तारी हो रही चिलम पीने के अपराध में

0
241

पैगाम ब्यूरोः बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के मौत के मामले की जांच देश की तीन बड़ी-बड़ी जांच एजेंसी कर रही हैं. अब तक सात गिरफ्तारियां हो चुकी हैं. इस मामले में गोदी मीडिया द्वारा विलेन की तरह पेश की जा रहीं सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को भी आखिरकार मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया. लेकिन मजे की बात ये है कि एक भी गिरफ्तारी सुशांत की मौत के मामले में नहीं हुई है. सभी को ‘चिलम’ और ‘हुक्का पीने के मामले में पकड़ा गया है.

सुशांत केस की जांच मुंबई पुलिस कर रही थी, लेकिन बीजेपी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जिद के चलते मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई. सीबीआई लगभग एक महीने से इस मामले में जांच कर रही है, लेकिन एक चूहा भी उसने अभी तक नहीं पकड़ा है.

बिहार चुनाव के चलते सुशांत केस को नया रंग देने के लिए इस मामले में ईडी और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) को भी मैदान में उतार दिया गया था. ईडी ने बीजेपी के इशारों पर चल रही सुशांत के परिवार वालों के आरोप और गोदी मीडिया के दावों पर कार्रवाई करते हुए रिया के खिलाफ करोड़ो रुपये के गैरकानूनी लेनदेन मामले की जांच की, लेकिन कुछ नहीं मिलने के बाद ईडी पूरी तरह खामोश हो गई.

सीबीआई को भी कुछ नहीं मिला है और जिस तरह से जांच आगे बढ़ रही है. उसे देखते हुए साफ लग रहा है कि सीबीआई को कुछ मिलने वाला भी नहीं है. इस मामले में मुंबई पुलिस की थ्योरी ही सही साबित होने वाली है कि सुशांत ने आत्महत्या की थी.

सीबीआई को जांच सौंपने के लिए आंदोलन करने वाली बीजेपी और जदयू को भी पता है कि इस केस में कुछ नहीं है. लेकिन बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होने तक इस मामले को खींचना है. इसलिए अब पूरा जोर नशा करने पर लगाया गया है, क्योंकि ये सभी जानते हैं कि अगर सही से जांच की जाये तो बड़े-बड़े शहरों की एक बड़ी आबादी नशा करने के मामले में जेल में होगी.

इस मामले में आचार्य प्रमोद ने सीधे सीबीआई पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, रिया “दारू” पीती है या “चिलम” किसी को कुछ “फ़र्क़” नहीं पड़ता,पूरा देश ये जानना चाहता है कि सुशांत की मौत में उसका हाथ है या नहीं, CBI ख़ामोश क्यूँ है,क्या रिया “निर्दोष” है.

रिया चक्रवती की गिरफ्तारी पर गोदी मीडिया जीत का जश्न मना रहा है. लोगों को बेवकूफ बनाने के लिए तमाम तरह की फर्जी खबरें चलाई जा रही है. झूठे दावे किये जा रहे है. अफसोस की बात है कि लोग जानबुझ कर भी गोदी मीडिया को देख रहे हैं और उसकी कही गई फर्जी खबरों को सही मान कर खुश हो रहे हैं. जबकि गोदी मीडिया भी कह रहा है कि रिया की गिरफ्तारी का संबंध सुशांत की मौत से नहीं है, बल्कि उसे नशा करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है. मर्डर से निकल कर मामला चिल पर पहुंच गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here