राम नाम की लूट है, लूट सको तो लूट

0
167

पैगाम ब्यूरोः यूपी सरकार ने घर-घर कोरोना सर्वे के लिए पल्स आक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर खरीदने के आदेश दिए थे. इसे जिलों में तय कीमत से पांच गुना तक ज्यादा कीमत पर खरीदा गया. इस मामले में जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है.

सुल्तानपुर के बीजेपी विधायक ने ही इस घोटाले के खिलाफ मोर्चा खोला है. एनडीटीवी वाले रवीश की रिपोर्ट में पत्रकार कमाल खान ने कई जिलों की कहानी बताई है. जो जहां जितना लूट पाया, उतना लूट ले गया. राम नाम की लूट है, लूट सको तो लूट.

इस महामारी में भ्रष्टाचार करने वाले महान लोग हैं. उन्हें 2020 खत्म होने से पहले आपात घोषणा के तहत भारत रत्न देना चाहिए.

(साभार पत्रकार कृष्णकांत के फेसबुक वॉल से)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here