मौसम विभाग ने जारी किया अलर्टः हैदराबाद में बुधवार तक हो सकती है भारी बारिश

0
78

पैगाम ब्यूरोः भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने हैदराबाद में बुधवार तक के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है और कहा है कि बिजली गिरने और गरज के साथ आंधी-तूफान आने की संभावना है. आपको बता दें कि तेलंगाना में कम से कम 50 लोगों की मौत हो चुकी है.

मौसम विभाग ने रविवार को कहा कि हैदराबाद में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे, बारिश या गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं. आमतौर पर सोमवार को एक या दो स्थानों पर बादल छाए रहेंगे या गरज के साथ बौछारें पड़ेंगी और मंगलवार को शहर में भारी बारिश देखने को मिलेगी. आमतौर पर बुधवार को एक या दो स्थानों पर बादल छाए रहेंगे या गरज के साथ बौछारें पड़ेंगी और गुरुवार और शुक्रवार को बारिश होने की भविष्यवाणी की गई है.

इस सप्ताह की शुरुआत में शहर के कई हिस्सों में भारी बाढ़-बारिश से मची तबाही के बाद शनिवार को फिर से महानगर के कई इलाकों में भारी बारिश दर्ज की गई और जलजमाव के कारण यातायात बाधित हो गया. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, शनिवार को सुबह 8.30 बजे से रात 10 बजे तक मेडचल मल्काजगिरी जिले के सिंगापुर टाउनशिप में 157.3 मिमी और शहर के उप्पल के पास बांदलागुड़ा में 153 मिमी बारिश हुई. शहर के कई अन्य इलाकों में भी भारी बारिश हुई.

­जीएचएमसी के निगरानी एवं आपदा प्रबंधन निदेशक विश्वजीत कामपति के एक ट्वीट के अनुसार ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के आपदा प्रतिक्रिया बल (डीआरएफ) के कर्मी लगातार जलजमाव और बाढ़ मे बचाव कार्य कर रहे हैं.

भारी बारिश तथा बाढ़ से सबसे बुरी तरह प्रभावित कुछ पुराने क्षेत्रों को छोड़कर अन्य तथा इसके पड़ोस के कई क्षेत्रों में स्थिति वापस सामान्य होने लगी है. यहां तक कि दूसरे दिन शनिवार को शहर में धूप भी खिली रही.

जानकारी के मुताबिक, राहत एवं बचाव दल पुराने क्षेत्रों में सबसे बुरी तरह प्रभावित आवासीय क्षेत्रों से बाढ़ के पानी को बाहर निकालने में लगे हुये हैं, जो भारी बारिश और बाढ़ की वजह से झीलों में तब्दील हो गए थे.

गौरतलब है कि तेलंगाना के नगरपालिका एवं शहरी विकास मंत्री केटी रामाराव लगातार प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर अधिकारियों को राहत कार्यों के निदेर्श दे रहे हैं. इसके मद्देनजर बचाव दल जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट तथा दवाइयां वितरित कर रहे हैं. राव ने राजेंद्रनगर क्षेत्र में हाल ही में आयी बाढ़ में जान गंवाने वालों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि भी दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here