दादा साहेब फाल्के विजेता महान अभिनेता सौमित्र चटर्जी का निधन

0
161

पैगाम ब्यूरोः बांग्ला फिल्मों के महान अभिनेता और भारतीय फिल्मों के सबसे बड़े पुरस्कार दादा साहब फाल्के अवार्ड विजेता सौमित्र चटर्जी का रविवार सुबह कोलकाता में निधन हो गया. वो 85 साल के थे और पिछले काफी दिनों से बीमार थे. वो कोरोना संक्रमण का शिकार हो गये थे, जिसके बाद लगातार उनकी हालत बगड़ती जा रही थी. पिछले 40 दिनों से उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. शनिवार को ही डॉक्टरों ने बताया था कि सौमित्र लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर थे और उनके शरीर पर इलाज का कोई असर नहीं हो रहा था. उनकी मौत भारतीय फिल्मों, खासतौर पर बांग्ला फिल्मों के लिए बहुत बड़ा नुक्सान है, जिसकी भरपाई शायद ही मुमकिन है.

सौमित्र चटर्जी को 5 अक्टूबर को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. इसके बाद उन्हें कोलकाता के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी प्लाजमा थैरेपी भी कराई गई थी, लेकिन उसका भी कोई असर नहीं पड़ा. धीरे-धीरे सौमित्र के अंगों ने काम करना बंद कर दिया और उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखना पड़ा.

सौमित्र चटर्जी का जन्म 1935 में कोलकाता में हुआ था. 1959 में उन्होंने मशहूर निर्देशक सत्यजीत राय की फिल्म ‘अपुर संसार’ से फिल्मों में अपने अभिनय करियर की शुरूआत की थी. वो सत्यजीत राय के पसंदीदा अदाकार थे. साल 2012 में सौमित्र चटर्जी को फिल्मों में अमूल्य योगदान के लिए दादा साहब फाल्के अवॉर्ड दिया गया था. इससे पहले भारत सरकार ने साल 2004 में सौमित्र को पद्म भूषण से भी सम्मानित किया था.

इस महान अभिनेता की मौत की खबर मिलते ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी फौरन अस्पताल पहुंच गईं, जहां उन्होंने शोक संतप्त परिवार को दिलासा देने की कोशिश. सौमित्र चटर्जी की मौत की खबर फैलते ही शोक संदेश देने वालों का तांता लग गया है. राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने भी उनकी मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here