पब्लिक कंगाल-अडानी मालामालः इस साल सबसे तेजी से बढ़ी है अडानी की संपत्ति

0
130

पैगाम ब्यूरोः किसी ने सच ही कहा है कि ऊपर वाला अगर किसी को देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है. जिसकी मिसाल भारत के चंद सबसे बड़े उद्योगपतियों में से एक गौतम अडानी हैं, जिन पर ऊपर वाला इतना मेहरबान है कि कोरोना महामारी के इस भयानक काल में भी उनकी दौलत और संपत्ति सबसे तेजी से बढ़ी है. यहां ऊपर वाला भगवान नहीं, बल्कि कुर्सी पर बैठे सत्ताधीश हैं. जिनकी छत्रछाया में अडानी का साम्राज्य नई ऊंचाईयों को छू रहा है.

गौतम अडानी की निजी संपत्ति इस साल उनके समकालीन उद्योगपतियों की तुलना में सबसे तेज रफ्तार से बढ़ी है. इकनॉमिक टाइम्स की एक खबर के मुताबिक अडानी ग्रुप के मार्केट कैपिटलाइजेशन में सबसे ज्यादा इजाफा हुआ है. अडानी की संपत्ति 2020 में 19.4 अरब डॉलर थी, जो अब बढ़ कर 30 अरब डॉलर तक पहुंच गई है. जनवरी से लेकर अब तक उनकी छह लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 27 अरब डॉलर यानी 2.1 लाख करोड़ रुपये बढ़ गया. अडानी वेल्थ क्रिएटर की लिस्ट में दुनिया में नौवें पोजीशन पर पहुंच गए हैं. स्टीव वामर, लेरी पेज और बिल गेट्स उनसे पीछे रह गये हैं.

अडानी ग्रुप की कंपनियों अडानी ग्रीन, अडानी इंटरप्राइजेज, अडानी गैस और अडानी ट्रांसमिशन के शेयरों के दाम में तेज बढ़त की वजह से गौतम अडानी की संपत्ति में यह भारी इजाफा हुआ है. इस साल अडानी ग्रीन एनर्जी के शेयरों में 551 फीसदी की बढ़त दर्ज हुई है. जबकि अडानी गैस के शेयरों के दाम 103 प्रतिशत और अडानी एंटरप्राइजेज के शेयरों के दाम 85 फीसदी बढ़े हैं. इसी तरह अडानी ट्रांसमिशन और अडानी पोर्ट्स के शेयरों में 38 और 4 फीसदी की वृद्धि हुई है.

भारत में गरीब और भी गरीब होता जा रहा है. देश में पहले से ही करोड़ों बेरोजगार थे. अब कोरोना महामारी ने और 12 करोड़ लोगों का रोजगार छीन लिया है. दूसरी तरफ गौतम अडानी और मुकेश अंबानी जैसे उद्योगपति हैं, जिन्होंने जैसे अलादीन का चिराग हासिल कर लिया है. दुनिया में कोई भी संकट आये, उन पर कोई असर नहीं पड़ता है, बल्कि संकट की घड़ी में उनकी दौलत में और भी इजाफा होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here