महाराष्ट्र में खुल गये सभी धार्मिकस्थल, लेकिन राजभवन की मस्जिद बंद

0
94

पैगाम ब्यूरोः कोरोना महामारी के चलते देश के सभी धार्मिकस्थलों को बंद कर दिया गया था, लेकिन अब देश भर के मंदिर, मस्जिद, चर्च और गुरुद्वारे खोल दिये गये हैं. महाराष्ट्र में चूंकि कोरोना का कहर सबसे ज्यादा था, इसलिए महाराष्ट्र सरकार ने धार्मिकस्थलों को देर से खोलने का निर्णय लिया. बीजेपी ने महाराष्ट्र के मंदिरों को खोलने के लिए प्रदर्शन भी किया. बीजेपी के इस प्रदर्शन का महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने खुल कर समर्थन किया था. अब जबकि उद्धव सरकार ने राज्य के सभी धार्मिकस्थलों को खोल दिया है, लेकिन मंदिरों को खोलने के लिए आवाज बुलंद करने वाले राज्यपाल के राजभवन के अंदर स्थित मस्जिद में मुसलमानों को इबादत करने की इजाजत नहीं है.

राजभवन की मस्जिद अभी भी बंद पड़ी हुई है, जिसे खोलने के लिए रजा अकेदमी ने राज्यापल को पत्र लिखा है.
महाराष्ट्र के राजभवन स्थित मस्जिद में नमाज पढ़ने की इजाजत मांगते हुए रजा अकादमी ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को एक चिट्ठी लिखी है, जिसमें कहा गया है कि मस्जिद को नमाज के लिए खोल दिया जाए. चिट्ठी में कहा गया है कि महाराष्ट्र के सभी धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया है. ऐसे में राजभवन के मस्जिद को भी जुमे की नमाज के लिए खोल दिया जाए.

महाराष्ट्र के सभी घार्मिक स्थलों को खोलने के लिए संस्था ने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के प्रति आभार भी प्रकट किया है. रजा अकादमी ने कहा है कि सरकार के इस फैसले से लोग काफी खुश हैं.

राज्यपाल के भेजे गये पत्र में कहा गया है कि देश में सभी धार्मिक स्थल खुल चुके हैं. ऐसे में राजभवन के कर्मचारियों के लिए भी जुमे की नमाज अदा करने के लिए राजभवन के अंदर स्थित मस्जिद को खोलने की इजाजत दे दी जाए. फिलहाल राजभवन में पांच से सात लोगों को भी नमाज पढ़ने की इजाजत नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here